नाबालिक लड़की का अपहरण कर आरोपी ने गला दबाकर की हत्या

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

सिहोरा। 31 दिसंबर को ग्राम दर्शनी से अपह्रत 16 वर्षीय छात्रा की लाश पहाड़ी में मिलने पर प्रकरण की गंभीरता को लेते हुए पुलिस अधीक्षक जबलपुर के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शिवेश सिंह बघेल नगर पुलिस अधीक्षक अधारताल, अशोक तिवारी के निर्देशन पर आरोपी की तलाश हेतु क्राइम ब्रांच एवं थाना सिहोरा की अलग-अलग टीमों का गठन किया गया था वही वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण कर भौतिक साक्ष्य मृतिका की 1 जोड़ी चप्पल हरे रंग का उंगली टोपा एक नाग काले रंग का जूता आदि जप्त किया था साथ ही मृतिका के परिजनों द्वारा बताए अनुसार संदेही आकाश बेड़िया पिता राममिलन बेड़िया उम्र 21 साल निवासी ग्राम गुरुजी थाना सिहोरा की तलाश प्रारंभ कर दी गई थी।

मृतिका आरोपी के साथ शादी करने बना रही थी दबाव
घटना के 24 घंटे के अंदर आज 4 जनवरी को तिलवारा बायपास एन एच-30 से आरोपी को अभिरक्षा में लेकर थाना सिहोरा लाया गया एवं पूछताछ पर आरोपी आकाश बेड़िया ने बताया की करीब 3 वर्ष से मोबाइल के जरिए मृतिका के संपर्क में था दोनों के बीच प्रेम संबंध भी स्थापित दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों के परिजन राजी नही थे इसलिए आरोपी ने मृतिका से शादी करने से मना किया लेकिन वह उसके साथ शादी करने लगातार दबाव बना रही थी जिसके चलते जब 31 दिसंबर को मृतिका ने फोन करके आरोपी को बुलाया तो आरोपी अपने साथ केक एवं 1 सीसी में जहर लेकर गया तथा किशोरी को अपने साथ पास की पहाड़ी में ले गया जहां मौका पाकर खाने में जहर मिलाकर उसे कहना चाहता था।

आरोपी ने गला दबाकर की हत्या
किंतु किशोरी को जब इसका आभास हुआ तो दोनों में झूमा झटकी हुई इसी बीच मृतिका ने मौका पाकर अपने पिता के मोबाइल में फोन लगाकर बताया कि आकाश उसे मार देगा तब आरोपी है किशोरी के बाल पकड़कर जमीन में पटक दिया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी घटना को अंजाम देने के बाद घबराहट में आरोपी एक पैर का जूता मौके पर छूट गया तथा दूसरा जूता तथा शहर की शीशी आरोपी की निशानदेही पर जप्त कर प्रकरण में धारा 302 बढ़ाकर आरोपी को गिरफ्तार किया।

उल्लेखनीय भूमिका रही
आरोपी को गिरफ्तार करने थाना प्रभारी सिहोरा गिरीश दुर्वे उप निरीक्षक महेंद्र जाटव अमजद खान प्रधान आरक्षक रामा सिंह आरक्षक राजेश पटेल राजीव सिंह राममिलन रजाक महिला आरक्षक प्राची सिंह कीर्ति द्विवेदी सैनिक शेख नजीम बृजेश मिश्रा मुन्नालाल अमित रैकवार एवं क्राइम ब्रांच के सहायक उपनिरीक्षक रामसनेही शर्मा साइबर सेल से अमित पटेल की उल्लेखनीय भूमिका रही।