मोबाईल चोर चाकू सहित चढ़ा पुलिस के हत्थे
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। थाना माढेाताल में सुबह विश्वनीय मुखबिर से सूचना मिली कि आरटीओ आफिस के सामने एक युवक खडा हेै जिसकी उम्र 20-25 वर्ष होगी जो चैकडी हाफ शर्ट एवं नीली जींस पहने है अपने पास चाकू रखे हुये है। सूचना पर योजनाबद्ध तरीके से प्रातः 8-30 बजे दबिश दी गयी, आरटीओ आफिस के सामने मुखबिर के बताये हुलिये का युवक खडा दिखा।

जो पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे घेराबंदी कर पकडा एवं नाम पता पूछा जिसने अपना नाम आयुष डागा पिता अनिल डागा उम्र 21 वर्ष निवासी पेपर मिल डोंगरी रोड हिरापुर थाना सरस्वती नगर जिला रायपुर छत्तीसगढ हाल निवासी पानी की टंकी के पास करमेता माढेाताल बताया जो तलाशी लेने पर एक बटनदार चाकू रखे मिला जिसे जप्त करते हुये थाना लाया गया एवं धारा 25 आम्र्स एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये सघन पूछताछ की गयी जिसने विजय नगर एवं दमोहनाका क्षेत्र से 9 एनराईड मोबाईल चोरी कर अपने करमेता स्थित किराये के मकान में एक बैग मे छिपाकर रखना बताया।

आरोपी की निशादेही पर सैमसंग, ओप्पो, वीवो, रेडमी, एमआई आदि कम्पनी के 9 मोबाईल कीमती 86 हजार रूपये के जप्त करते हुये आरोपी के विरूद्ध प्रथक से धारा 41(1-4)जा.फौ. /379 भादवि के तहत कार्यवाही कर मोबाईल धारकों के सम्बंध मे पतासाजी की जा रही है। प्रारम्भिक पतासाजी पर ज्ञात हुआ कि पकडे गये उक्त आरोपी के विरूद्ध थाना कबीरधाम (छत्तीसगढ) के विरूद्ध धारा 379 भादवि एवं आम्र्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध है।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा जिले मे पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को अवैध मादक पदार्थ/शराब तथा अवैध हथियार की तस्करी में लिप्त लोगों चिन्हित करते हुये   असामाजिक तत्वों, गुण्डे बदमाशों के विरूद्ध उनके अपराधिक रिकार्ड को दृष्टिगत रखते हुये प्रभावी  कार्यवाही हेतु आदेशित किया गया है।
आदेश के परिपालन मे अति. पुलिस अधीक्षक दक्षिण गोपाल प्रसाद खाण्डेल, एवं नगर पुलिस अधीक्षक गढा रोहित काशवानी के मार्ग दर्शन में थाना माढेाताल पुलिस के द्वारा एक आरोपी को चाकू के साथ रंगे हाथ पकडा जाकर पूछताछ करते हुये चोरी के 9 मोबाईल कीमती 86 हजार रूपये के जप्त करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुई है।

उल्लेखनीय भूमिका– आरोपी से चाकू एवं पूछताछ कर चुराये हुये मोबाईल बरामद करने में थाना प्रभारी माढेाताल श्रीमति रीना पाण्डे शर्मा, सहायक उप निरीक्षक संतोष मसराम , आरक्षक प्रेम नारायण , शशि प्रकाश एवं दिनेश दुबे की सराहनीय भूमिका रही।