मोहन भागवत ने केरल सरकार के आदेश का उल्लंघन कर एक स्कूल में फहराया तिरंगा

आरएसएस ने केरल सरकार के इस निरंकुश प्रयास की निंदा की है। केरल में माकपा नीत सरकार के आदेशों का उल्लंघन करते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने आज यहां के एक स्कूल में तिरंगा झंडा फहराया।

पलक्कड जिले की कलेक्टर पी मेरीकुट्टी ने कल रात आदेश जारी किया था कि चूंकि करनागी अम्मन स्कूल सरकारी सहायता प्राप्त है इसलिए प्रोटोकॉल के मुताबिक केवल निर्वाचित प्रतिनिधि या स्कूल के अधिकारी ही यहां झंडा फहरा सकते हैं।

जिला प्रशासन ने इसके लिए स्कूल प्रशासन को एक मेमो जारी किया था। मेमो में कहा गया था कि चूंकि स्कूल राज्य सरकार के सपोर्ट से चलते हैं, इसलिए किसी भी स्कूल में किसी राजनेता का झंडा फहराना सही नहीं है।

मेमो में कहा गया था कि स्कूल में तिरंगा केवल कोई शिक्षक या लोगों द्वारा चुना गया कोई व्यक्ति ही फहरा सकता है। कलेक्टर के आदेश के बाद भी आरएसएस प्रमुख ने स्कूल में जाकर तिरंगा फहराया। आरएसएस ने केरल सरकार के इस निरंकुश प्रयास की निंदा की है।

भागवत ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के दौरान बलिदान देने वालों को याद करना हमारा कर्तव्य है। हमें वही प्रतिबद्धता अपनी जिंदगी में लानी है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता पवित्र है। हमें इसकी रक्षा करनी है। गौरतलब है कि हाल के समय में आरएसएस और माकपा कार्यकर्ताओं के बीच संघर्ष में बढ़ोतरी हुई है।