महाशिवरात्रि स्नान पर्व पर लगभग 1 करोड़ 10 लाख से अधिक श्रद्वालुओं ने लगाई आस्था एवं पुण्य की डुबकी

 प्रयागराज:प्रयागराज 4 मार्च 2019/सम्पूर्ण विश्व में अपनी अमिट छाप छोड़ने वाले इस कुम्भ-2019 के महाशिवरात्रि पर्व पर आज कुम्भ के विभिन्न घाटों पर लगातार स्नान होता रहा। मेला प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार आज शाम 5 बजे तक लगभग 1 करोड़ 10 लाख से अधिक श्रद्वालुओं ने आस्था एवं पुण्य की डुबकी लगाई।

फिर उमडा भव्य व दिव्य कुम्भ के स्नान पर्व पर आस्था का जनसैलाब

महाशिवरात्रि स्नान पर्व पर पूर्व की भांति व्यापक रहीं व्यवस्थाएं मेला क्षेत्र के विभिन्न स्नान घाटों पर देर शाम तक होता रहा स्नान

श्रद्वालुओं का आगमन रविवार की सुबह से ही आरंभ हो गया था

शाम 5 बजे तक लगभग 1 करोड़ 10 लाख से अधिक श्रद्वालुओं ने लगाई आस्था एवं पुण्य की डुबकी श्रद्वालुओं का आगमन रविवार की सुबह से ही आरंभ हो गया था।आज प्रातः से ही श्रद्वालुओं का कुम्भ के विभिन्न मार्गो पर आगमन देर शाम तक अनवरत जारी रहा। संयोग से इस बार महाशिवरात्रि सोमवार को पड़ी है तथा इस भव्य और दिव्य कुम्भ के आखिरी स्नान पर्व होने के कारण भी श्रद्वालुओं की अपार भीड कुम्भ क्षेत्र में पहुंची।

श्रद्वालुओं का कुम्भ के विभिन्न मार्गो पर आगमन देर शाम तक अनवरत जारी रहा

कुम्भ मेला क्षेत्र के विभिन्न स्नान घाटों पर उमड़ी। भोर से ही गंगा, यमुना व अदृश्य सरस्वती के त्रिवेणी तटों पर श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ था। स्नान को लेकर मेला प्रशासन द्वारा पूर्व स्नान पर्वो की भांति सुरक्षा के व्यापक बन्दोबस्त किये गये।

आज कुम्भ-2019 के अंतिम स्नान पर्व महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं की अपार भीड़

 स्नान घाटों पर महिला पुलिस से लेकर पैरामिलिट्री फोर्स भी मुस्तैद रही। देश के अलग-अलग कोने से पहुंचे श्रद्वालु संगम में स्नान पश्चात अपने-अपने गंतव्यों को रवाना भी होते रहे। संगम में स्नान के बाद स्नानार्थी गऊ दान व विभिन्न अनुष्ठान कर पुण्यार्जन की कामना की।

भव्य और दिव्य कुम्भ के आखिरी स्नान पर्व होने के कारण भी श्रद्वालुओं की अपार भीड कुम्भ क्षेत्र में पहुंची

कुंभ में करीब आठ किलोमीटर के दायरे में फैले 40 घाटों पर इस स्नान पर्व पर पुनः एक बार फिर श्रद्धालुओं के आस्था का सैलाब उमड़ा। इस दौरान कुम्भ क्षेत्र में माॅ गंगे के जयघोष के साथ ही हर-हर महादेव के नारे भी गुंजायमान थे। स्नानार्थियों के वापसी पर उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिये मेला प्रशासन ने व्यापक बन्दोबस्त किये थे। स्नानार्थियों को किसी भी तरह की कोई असुविधा न हो इसके लिये मेला क्षेत्र में तैनात पुलिस बल के साथ वालंटियर्स भी बड़े ही सौम्य और शिष्ट भाव से मार्गदर्शन करते रहे। मेलाधिकारी, डी.आई.जी./एस.पी. कुम्भ सहित समस्त अधिकारियों एवं पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स के जवान लगातार निगरानी करते रहे। इसके अतिरिक्त श्रद्वालुओं के लिये निःशुल्क शटल बसों का संचालन किया गया था। जो कि पार्किंग स्थलों से परेड मैदान के निकट तक स्नानार्थियों/श्रद्वालुओं को ले आ-जा रही थी।

फिर उमडा भव्य व दिव्य कुम्भ के स्नान पर्व पर आस्था का जनसैलाब

उ.प्र. के गन्ना विकास एवं चीनी मिल मंत्री सुरेश राणा ने आम जनमानस के साथ लगाई संगम में डुबकी
मा॰ प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के निर्देशन एवं मा॰ मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व में भव्य एवं दिव्य कुम्भ का हुआ आयोजन


विश्व के 192 देशों के लोग कुम्भ में आकर यहाॅ की सुव्यवस्थित व्यवस्था, स्वच्छता और भव्यता देख हुए अभिभूत

सुरेश राणा ने कहा कि कुम्भ की प्राचीन मान्यता, आध्यात्मिकता, लौकिकता, आपसी सद्भाव को सभी ने स्वीकार किया है और करोड़ों की संख्या में श्रद्धालु आकर यहाॅ के दर्शन व स्नान किये। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के कुशल निर्देशन में कुम्भ में अभेद सुरक्षा व्यवस्था, यातायात प्रबन्धन तथा स्वच्छता के माध्यम से विश्व के समक्ष अद्भुत संदेश दिया है। टेन्ट सिटी के माध्यम से वैश्विक स्तर की आवासीय सुविधा ने कुम्भ को अलग स्थान दिलाया है, इसके अलावा स्वच्छाग्राहियों ने सफाई व्यवस्था को टीमवर्क के माध्यम से पूरा किया। इसके अलावा कुम्भ में की गयी व्यवस्थाओं और उसकी महत्ता को मीडिया बन्धुओं ने मीडिया के माध्यम से पूरी दुनिया के सामने सकारात्मक रुप से प्रस्तुत किया जिसके लिए सभी मीडिया बन्धुओं को बधाई देता हूॅ।


श्री राणा ने कहा कि आज महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर संगम स्नान में डुबकी लगाने पर अपार आध्यात्म की अनुभूति हुयी है। उन्होंने कहा कि 03 मार्च तक 22.95 करोड़ श्रद्धालुओं ने गंगा में स्नान कर चुके हैं। इसके अलावा आज इस पावन पर्व पर भी करोड़ से अधिक लोग स्नान कर रहे हैं। वैश्विक सभ्यता तथा भारतीय संस्कृति का प्रतीक कुम्भ को पूरी दुनिया के लोगों ने देखा। कुम्भ में अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने टीम भावना ने काम करके कुम्भ को दिव्य व भव्य बनाया है। विगत कुम्भो से अलग हट करके इस बार सरकार ने हेलीकाप्टर के माध्यम से श्रद्धालुओं पर पुष्पवर्षा की गयी। जिससे अभिभूत होकर श्रद्धालुओं ने मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ का जयकारा भी लगाया। उन्होंने कुम्भ को अन्तराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने में सहयोग करने के लिए मीडिया बन्धुओं को बधाई दी।

 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री  देवेन्द्र फडणवीस ने कुम्भ में आकर संगम में किया स्नानदिव्य और भव्य व्यवस्था देख उ.प्र. के मुख्यमंत्री जी को दी बधाई महाराष्ट्र के  मुख्यमंत्री  देवेन्द्र फडणवीस ने अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आज प्रातः 10 बजे बमरौली एयरपोर्ट, प्रयागराज पहुॅचे इसके बाद मुख्यमंत्री महाराष्ट्र देवेन्द्र फडणवीस ने संगम नोज़ पहुॅचकर आमजन की तरह संगम में स्नान कर पूजा-अर्चना की।

इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कुम्भ-2019 में बेहतर व्यवस्था की गयी है जिसका साक्ष्य आज दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि कुम्भ-2019 की प्रशंसा मात्र टीवी एवं समाचार-पत्रों के माध्यम से देखा व सुना था परन्तु आज प्रयागराज के पावन धरती पर आकर इस भव्य कुम्भ को देखने का अवसर मिला इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाये वह कम है। उन्होंने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कराये गये इस भव्य कुम्भ-2019 में इतनी अच्छी एवं उच्च कोटि की व्यवस्था पर उन्हें बधाई देता हूॅ।

उन्होंने कहा कि इसके पूर्व भी मैं प्रयागराज आया हूॅ मगर आज की यह दिव्य एवं भव्य व्यवस्था को देखकर मन प्रसन्न है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व प्रदेश के मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ दोनों के सार्थक प्रयास से आज कुम्भ-2019 की दशा मंे बेहतर सुधार आया है जिसकी वजह से विदेशों में हमारे देश व उ.प्र. का नाम सर्वोच्च स्थान पर कीर्तिमान स्थापित करने जा रहा है। कुम्भ के दौरान गिनीज बुक आॅफ वल्र्ड रिकार्ड में भी ऐसे कई कार्यों जैसे स्वच्छता, वाल पेंटिंग, बस परेड के माध्यम से रिकार्डों को तोड़कर अपने देश का नाम रोशन किया है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने किया संगम में स्नान
केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जे.पी. नड्डा ने आज प्रयागराज पहुॅचकर आमजन की तरह प्रातः संगम नोज में पहुॅचकर संगम में स्नान व पूजा-अर्चना की। उन्होंने कुम्भ-2019 में हुयी भव्य एवं दिव्य व्यवस्था की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मा॰ प्रधानमंत्री जी के कुशल निर्देशन और उ.प्र. के मुख्यमंत्री जी के कुशल नेतृत्व में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम द्वारा बड़ा ही सफल, स्वच्छ और साफ, सुव्यवस्थित कुम्भ का आयोजन किया। जिसमें देश-विदेश से आये हुये करोड़ों श्रद्धालुओं ने स्नान किया।आज कुम्भ के इस पावन स्नान पर्व में त्रिपुरा के उप मुख्यमंत्री  जिष्णु देव वर्मा ने भी कुम्भ में आकर संगम पर स्नान कर पूजा-अर्चना की।[ब्यूरो रिपोर्ट प्रयागराज]