खुद की जान देकर भी मासूम की जिंदगी नहीं बचा पाई ये मां
छतरपुर @ छतरपुर जिले में करंट लगने से एक महिला और उसके ढाई साल के मासूम बच्चे के मौत हो गईं. खेतों में पानी देने के दौरान बिजली का तार टूटने की वजह से यह हादसा हुआ. बेटे को बचाने की कवायद में मां ने भी अपनी जिंदगी कुर्बान कर दी.
मामला जिले के महारजपुर थाना क्षेत्र के वार्ड क्रमांंक 15 का है. संगीता नाम की महिला खेतों में पानी देने के लिए गई थी. इस दौरान उसने ढाई साल के प्रिंस को खेतों के किनारे खेलने के लिए छोड़ दिया था. इसी दौरान अचानक बिजली का तार टूट कर नीचे गिर पड़ा. मासूम प्रिंस खतरे को समझ नहीं सका और करंट की चपेट में आ गया. मासूम बेटे का शोर सुनकर उसे बचाने के लिए पहुंची संगीता भी करंट की चपेट में आ गई. दोनों की मौके पर ही मौत हो गई.
दरअसल, संगीता का पति किसी काम से गांव से बाहर गया हुआ था. इस वजह से खेतों में पानी देने के लिए संगीता को खेत पर जाना पड़ा. इसी दौरान यह हादसा हो गया. संगीता और मासूम प्रिंस के शव कई घंटों तक खेतों में ही पड़े रहे. देर रात को पति के गावं लौटने पर उसे पत्नी और बेटा नजर नहीं आया. वह दोनों को खोजते हुए खेतों पर पहुंचा तो वहां दोनों के शव पड़े हुए थे. महाराजपुर पुलिस ने मंगलवार सुबह दोनों के शव को पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों को सौंप दिया, जिन्होंने दोपहर बाद दोनों के शव का अंतिम संस्कार किया.