मध्य प्रदेश मुफ्त बायोगैस योजना

मध्य प्रदेश मुफ्त बायोगैस योजना

केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश के सभी प्रदेशों में बायो गैस प्लांट स्थापित करने की योजना का संचालन किया जा रहा है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश के तीन ग्राम पंचायतों का चयन केंद्र की गोबरधन योजना के अंतर्गत किया गया है। बायो गैस प्लांट में प्रतिदिन 600 किलो गोबर की आवश्यकता पड़ेगी। गोबर उपलब्ध कराने वाले ग्रामीणों के लिए बायो गैस मुफ्त होगी। अन्य ग्रामीणों को बायो गैस का शुल्क देना होगा।

बायो गैस प्लांट लगाने का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में जगह -जगह गोबर फेकने से होने वाली गंदगी पर नियंत्रण पाना है, और अनुपयोगी गोबर को ईंधन एवं बिजली के लिए प्रयोग करना है। इससे ग्रामीणों को चूले के धुएँ से मुक्ति मिलेगी और फसलों के लिए उच्च गुणवत्ता वाली जैविक खाद्य भी उपलब्ध हो सकेगी।

म.प्र. बायो गैस प्लांट के लिए चयनित ग्राम

केंद्र सरकार की गोबरधन योजना के तहत मध्य प्रदेश के बिरमावल, ढोढर एवं पीपलखूंटा तीन ग्राम पंचायत का चयन किया गया है। इन ग्राम पंचायतों का चयन पानी, गोबर और स्थान की उपलब्धता के आधार पर किया गया है। केन्द्र सरकार द्वारा इस योजना का संचालन स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत प्रदेश में किया जाएगा।

प्रत्येक बायो गैस प्लांट लगाने में लगभग 8 लाख रूपए का खर्च आएगा। इस बायो गैस प्लांट में लगने वाले गोबर की पूर्ति ग्रामीणों द्वारा की जायेगी। योजना के तहत प्लांट लगने से पूर्व केंद्र सरकार की तकनिकी टीम परियोजना का निरिक्षण करेगी।

म.प्र. बायो गैस प्लांट योजना का क्रियान्वयन (IMPLEMENTATION OF BIO GAS PLANT SCHEME)

  • बायो गैस प्लांट योजना से सम्बंधित प्रशिक्षण प्रदेश के जिला स्तर के अधिकारी को भोपाल में दिया जाएगा।
  • चयनित गाँव में बायो गैस प्लांट 25 -30 घन मीटर क्षेत्र में स्थापित किया जाएगा।
  • प्रत्येक बायो गैस प्लांट के लिए प्रतिदिन 600 किलो गोबर की आवश्यकता होगी।
  • बायो गैस संचालन के लिए गोबर की आपूर्ति सम्बंधित ग्राम वासियों से प्राप्त की जायेगी। इसके लिए ग्रामीणों के एक समूह का निर्माण किया जाएगा। इन ग्रामीणों से गैस का शुल्क नहीं लिया जाएगा। शेष ग्राम वासियों को गैस का शुल्क देना होगा।
  • बायो गैस के शुल्क का निर्धारण ग्राम पंचायत द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा।
  • बायो गैस प्लांट के 200 – 250 मीटर के दायरे में रहने वाले ग्रामीणों को गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाई जायेगी।
  • सभी घरो में बायो गैस प्लांट से पाइपलाइन के माध्यम से गैस कनेक्शन पहुँचायी जायेगी।
  • प्रत्येक प्लांट से गाँव के लगभग 150- 200 परिवारों को बायो गैस का लाभ प्राप्त हो सकेगा।
  • गैस के अतिरिक्त बायो गैस प्लांट से उच्च कोटि के जैविक खाद्य की भी प्राप्ति होगी। जिससे किसानों के फसल की उपज के लिए खाद्य की आवश्यकता की भी पूर्ति की जा सकेगी।
  • प्लांट के संचालन से ग्राम में स्वच्छता रखने में भी मदद मिलेगी।