म.प्र. का नया घोषित मेडिकल कॉलेज टीकमगढ़ में बनेगा

टीकमगढ़@ भारत सरकार की जल संसाधन नदी विकास और गंगा सरंक्षण मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि म.प्र. का नया घोषित मेडिकल कॉलेज टीकमगढ़ में ही बनेगा। उन्होंने कहा कि यहां के जिला अस्पताल ने काल्याकल्प अभियान में पहला पुरस्कार जीतकर यह साबित कर दिया है कि टीकमगढ़ इसके लिए पूणर्तः उपयुक्त भी है। टीकमगढ़ विधायक केके श्रीवास्तव के इस प्रस्ताव से पूर्णतः सहमत हूं, तथा इस हेतु पूरा प्रयास करूंगी। उन्होंने डाक्टर डॉक्टर भगवान का रूप होते हैं। साथ ही उन्होंने कहाकि लाईफ लाईन एक्सप्रेस में उपचार करने वाले सभी डॉक्टर्स एवं संबंधित लोगों का मैं हृदय से अभार व्यक्त करती हूं। सुश्री उमा भारती ने आज लाईफ लाईन एक्सप्रेस ट्रेन में उपचार के शुभारंभ अवसर पर ये विचार व्यक्त किये। सुश्री उमा भारती ने कहा कि चिकित्सा और शिक्षा की सुविधाओं का विस्तार कर जन-सामान्य तक इनकी पहुंच बढ़ानी है। साथ ही उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड के सभी तालाबों को आपस में जोड़कर इस क्षेत्र को समृद्ध बनाना है, जिसका कार्य प्रारंभ हो चुका है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के विकास में महिलाओं को योगदान देना होगा तथा इसके लिए उन्हें आगे बढ़ना होगा। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा जिले के प्रभारी मंत्री रूस्तम सिंह ने कहा कि जिला अस्पताल टीकमगढ़ केा प्रदेश का सर्वोत्तम अस्पताल घोषित होने पर बधाई। उन्होंने कहा इसके लिए सभी संबंधित लोग बधाई के पात्र हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि टीकमगढ़ में मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए मैं पूरा प्रयास करूँगा। उन्होने कहा आदरणीय उमा दीदी के प्रयासों से टीकमगढ़ जिला एवं संपूर्ण बुंदेलखंड धन-धान्य से पूर्ण होगा तथा प्रगति करेगा ऐसा मेरा विश्वास है। उन्होने कहा कि प्रदेश में मेडिकल कॉलेज एवं चिकित्सा सुविधाओं का लगातार विस्तार किया जायेगा जिससे डॉक्टर्स की तथा अन्य संबंधित स्टॉफ की कमी दूर होगी।

इस अवसर पर प्रदेश के गृह एवं परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि वर्तमान समय में देश और प्रदेश में विकास गतिविधियों की रफ्तार बढ़ी है। उन्होंने कहा कि कुशल नेतृत्व में देश और प्रदेश विकास के नये-नये कीर्तिमान स्थापित कर रहे है। आपने कहा कि आदरणीय दीदी उमाजी के प्रयासों से केन-बेतवा नदी परियोजना को स्वीकृति मिल गई है। इससे क्षेत्र का विकास तीव्र गति से होगा। विधायक टीकमगढ़ ने मेडिकल कॉलेज की मांग रखीकार्यक्रम में विधायक टीकमगढ़ केके श्रीवास्तव ने टीकमगढ़ में मेडिकल कॉलेज बनाये जाने की मांग रखी। उन्होने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार के जिम्मेदार मंत्री आज यहां उपस्थित हैं इसलिए मैं उनके समक्ष अपने क्षेत्र की इस बहुप्रतीक्षित मांग को रख रहा हूं। उन्होने कहा इससे इस पिछड़े क्षेत्र में विकास की गति बढ़ेगी और लोगों को लाभ होगा।

लाईफ लाईन एक्सप्रेस के प्रोजेक्ट मैनेजर वैभव गुप्ता ने बताया कि चलते-फिरते अस्पताल के नाम से प्रसिद्ध लाईफ लाईन एक्सप्रेस ट्रेन में आज से रोगियों का निःशुल्क उपचार शुरू होगा। यह ट्रेन 25 राज्यों के 125 जिलों में भ्रमण के बाद टीकमगढ़ आई है। इसका 179 प्रोजेक्ट पूरे करने के बाद यहां 180 वां प्रोजेक्ट है। स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 4 पर खड़ी ट्रेन में इलाज की तैयारियां शुरू हो गई हैं। यह ट्रेन 12 मार्च तक स्टेशन पर रहेगी। इस दौरान कई गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों की जांच और ऑपरेशन किया जायेगा। लाईफ लाईन ट्रेन में मुख, स्तन, दांत, सर्वाइकल कैंसर, दंतरोग, मिर्गी रोग, हड्डी एवं पोलियो की करेक्टिव सर्जरी, गर्भाशय का कैंसर, निःसंतान एवं परिवार कल्याण संबंधी इलाज होगा और परामर्श दिया जायेगा। इंपैक्ट इंडिया फाउंडेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर वैभव गुप्ता ने बताया कि टीकमगढ़ में दूसरी बार लाईफ लाईन ट्रेन में कैंसर से पीड़ित मरीजों का इलाज किसा जाएगा। ट्रेन में 7 डिब्बे लगे हैं। इसमें पहले कोच में विद्युत व्यवस्था, स्टाफ के लिए किचन है। दूसरे डिब्बे में डायनिंग हॉल, एडमिन रूम और चेंजिंग रूम है। तीसरे और चौथे कोच में ओटी एवं रिकवरी रूम संचालित है। पांचवे कोच में स्टाफ रूम, एक्स रे कक्ष, मैमोग्राफी कक्ष एवं गायनिकोलॉजी कक्ष है। छठवें कोच में फार्मेसी एवं परीक्षण की सुविधा तथा सातवें कोच में कॉन्फ्रेंस रूम और डेंटल क्लीनिक बना है। परीक्षण एवं ऑपरेशन की अलग-अलग तिथियां होंगी,लाईफ लाईन एक्सप्रेस के प्रोजेक्ट मैनेजर वैभव गुप्ता ने बताया कि मोतियाबिंद का परीक्षण 20 से 24 फरवरी तक होगा तथा 21 फरवरी से 27 फरवरी तक मोतियाबिंद के पीड़ित मरीजों के ऑपरेशन होंगे। इसके अलावा कान से संबंधित मरीजों का परीक्षण 28 फरवरी से 3 मार्च तक होगा तथा एक मार्च से 6 मार्च तक ऑपरेशन होंगे। इसके अलावा कटे होंठ से संबंधित मरीजों का परीक्षण 7 एवं 8 मार्च को होगा, तथा 8 से 10 मार्च तक ऑपरेशन होंगे। इसके अलावा हड्डी रोग एवं पोलियो की करेक्टिव सर्जरी हेतुपरीक्षण 7 व 8 मार्च को होगा तथा 8 से 10 मार्च तक ऑपरेशन होंगे। इसके अलावा मुंह, स्तन एवं गर्भाशय के कैंसर की जांच एवं परीक्षण 21 फरवरी से 4 मार्च तक होगा तथा आवश्यकता पड़ने पर 11 व 12 मार्च को ऑपरेशन किया जायेगा। गुप्ता ने बताया कि 10 मिर्गी रोग से संबंधित मरीजों की जांच 10 से 12 मार्च, दंत रोग से संबंधित मरीजों का उपचार 21 से 27 फरवरी तक एवं निःसंतानता एवं परिवार कल्याण सेवाओं की जांच 5 से 10 मार्च तक की जायेगी तथा इसमें किसी प्रकार के कोई ऑपरेशन की सुविधा लाईफ लाईन एक्सप्रेस में नहीं हैं। केवल ओ.पी.डी. के माध्यम से उपचार कर दवा वितरित की जायेगी। उन्होंने बताया कि लाईफ लाईन एक्सप्रेस में सभी मरीजों की जांच और ऑपरेशन निःशुल्क किया जायेगा।