यादव कालोनी मे हुई अंधी हत्या का 24 घंटे के अंदर खुलासा, आरोपी पुलिस गिरफ्त
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। यादव कालोनी में कल सुवह लगभग 7 बजे कछपुरा ब्रिज के नीचे मालगोदाम सीढ़ी के पास एक व्यक्ति के शव पड़े होने की सूचना पर पहुंची पुलिस को अजय पटैल उम्र 47 वर्ष निवासी बीएल मैरिज गार्डन के पास मालगोदाम कछपुरा ने बताया कि सुवह लगभग 6-30 बजे वह अपने घर पर था उसी समय मौहल्ले के पटैल  दादा उसके घर आये तथा आवाज लगाये, वह घर से बाहर आया तो पटेल दादा ने बताया कि मालगोदाम सीढ़ी के पास एक व्यक्ति मृत पड़ा है जो तुम्हारे बड़े भाई सतीश पटैल जैसा लग रहा है।

जानकारी मिलने पर वह तत्काल कछपुरा ब्रिज मालगोदाम सीढ़ी के पास पहुंचा तो देखा कि उसके बडे भाई सतीश पटैल उम्र 49 वर्ष निवासी कछपुरा का शव चित अवस्था में पड़ा था उसके भाई के माथे चेहरे मे तथा कनपटी में काफी चोट के निशान दिख रहे हैं, सिर के पास एक खून लगा पत्थर पड़ा है।  भाई सतीष पटेल के शव को देखकर प्रतीत होता है कि किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा भाई सतीष पटेल के साथ मारपीट कर उनकी हत्या कर दी गयी है।

घटना से वरिष्ठ अधिकरियो को अवगत कराया गया, सूचना पाकर पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार (भा.पु.से.), एवं नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली दीपक मिश्रा घटना स्थल पहुंचे।

वरिष्ठ अधिकारियों एवं एफ.एस.एल. टीम की उपस्थिति में घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये अज्ञात आरोपी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध करते हुये प्रकरण विवेचना मे लिया गया।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपी पतासाजी करते हुये शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर अमित कुमार (भा.पु.से.) एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डे के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली श्री दीपक मिश्रा के नेतृत्व में थाना लार्डगंज एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर  लगायी गयी ।

गठित टीम के द्वारा पतासाजी की गयी तो विश्वसनीय मुखबिर से जानकारी मिली कि कछपुरा सोसायटी के पास निर्माणाधीन मकान मे चैकीदारी करने वाले बृजेश चढार नाम के लडके के साथ मृतक घूमता हुआ रात लगभग 9 बजे देखा गया है, यह जानकारी लगते ही  सरगर्मी से तलाश पतासाजी करते हुये बृजेश चढार उम्र 22 वर्ष  निवासी महेशाखुर्द थाना रहली जिला सागर को पैत्रक गाॅव के पास से पकड़ा गया एवं थाना लार्डगंज लगाया गया तथा सघन पूछताछ की गयी तो , ब्रजेश चढार ने बताया कि डेढ-दो पहले सतीष पटेल से उसकी जान पहचान हुई थी।

सतीष पटेल सट्टा खिलाता था, दिनाॅक 9-10-2020 को सतीष पटेल के पास 100 रूपये का सट्टा लगाया था, जिसमें उसका अंक फसा था जिसके 8 हजार रूपये सतीष पटेल से लेने थे, जिसके लिये उसने दिनाॅक 10-10-2020 को रात लगभग साढे आठ -नौ बजे सतीष पटेल को मोबाईल लगाकर कछपुरा तिराहा बुलाया तो, सतीष पटेल कछपुरा तिराहे पहुंचा।

उसके बाद हम दोनों शराब पीने के लिये लिंक रोड वाली शराब दुकान गये थे, शराब पीने के बाद वहाॅ से वापस कछपुरा मालगोदाम के पास  बनी सीढियो के उपर खडे होकर उसने दुबारा सतीष पटेल से अपने सट्टे मे फंसे रूपये मांगा, तो सतीष कहने लगा कि पैसा नही दूंगा क्या कर लेगा,  क्या सबूत है तेरे पास, जिस पर हम दोनो का वाद विवाद होने लगा, तो उसने सतीष को सीढी के उपर से धक्का दे दिया, जिससे सतीष नीचे जा गिरा, वह सीढी से नीचे उतरा और पास ही पकडा पत्थर उठाकर सतीष के सीने एवं गर्दन में मारा, जिससे कुछ ही देर मे सतीष पटेल की मृत्यु हो गयी तो

सतीष पटेल की जेब मे रखे 100 रूपये व एक काले रंग का मोबाईल लेकर अपने सोसायटी वाले मकान में जहाॅ वह रहता है चला गया, तथा कपडे  उतारकर एक सफेद रंग की बोरी में भरकर घर के पीछे पानी भरे प्लाट में फेंक दिया और सुबह बस पकड़ कर दमोह होते हुये  अपने गाॅव चला गया था।

आरोपी की निशादेही पर घर के पीछे पानी भरे प्लाट से बोरी जिसमें घटना के वक्त पहने कपडे आदि जप्त करते हुये प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका

अंधी हत्या का खुलासा एवं आरोपी की गिरफ्तारी में उप निरीक्षक अनिल मिश्रा, एस.एन. कुशवाहा, आरक्षक मानवेन्द्र एवं क्राईम ब्रांच के प्रधान आरक्षक वीरेन्द्र सिंह, आरक्षक ज्ञानेन्द्र पाठक, ब्रम्हप्रकाश, नवनीत,  की सराहनीय भूमिका रही।