शहपुरा अन्तर्गत 2 वर्षिय बच्ची की सनसनीखेज जघन्य अंधी हत्या का खुलासा, दोनों आरोपी गिरफ्तार 
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर /शहपुरा।   दिनाॅक 17-9-2020 की सुबह लगभग 8-15 बजे थाना शहपुरा अंनंतर्गत निवासी फरियादी ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि उसकी 2 बेटियाॅ हैं, 6 वर्षिय बेटी अपनी दादी के घर पर थी, 2 वर्षिय छोटी बेटी के साथ दिनाॅक 16-9-2020 को रात लगभग 10 बजे खाना खाकर पत्नि के साथ घर की परछी में तखत मे बिस्तर लगाकर सो गया था, दो वर्षिय बेटी पत्नि एवं उसके बीच मे सो रही थी , रात लगभग 2-45 बजे उसकी पत्नि की नींद खुली तो 2 वर्षिय बेटी बिस्तर पर नहीं मिली, पत्नि के बताने पर वह अपनी 2 वर्षिय बेटी को आसपास काफी तलाश किया लेकिन कुछ पता नहीं चल रहा है। रिपोर्ट पर धारा  363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

घटित हुई घटना की जानकारी लगने पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शिवेश सिंह बघेल, एसडीओपी पाटन श्री देवी सिंह तत्काल थाना शहपुरा अन्तर्गत घटना स्थल पहुंचे।

सूचना पर पहुंचे डाॅग एवं स्थानीय ग्रामीणजनों की मदद से 2 वर्षिय अपहृता बच्ची की तलाश हेतु अलग अलग टीमें लगायी गयी, दौरान तलाश के दिनाॅक 18-9-2020 को अपहृत बच्ची ग्राम नाचनखेड़ा में मेढ के किनारे एक खेत में मृत अवस्था में मिली, बच्ची के मृत अवस्था में मिलने की जानकारी मिलने पर पुनः तत्काल पुलिस अधीक्षक जबलपुर मौके पर पहुंचे, सूचना पर पहुंची एफएसएल टीम की डाॅ. सुनीता तिवारी की उपस्थिति में घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये शव पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाया गया, एवं  डाॅ. सुनीता तिवारी  वैज्ञानिक अधिकारी के द्वारा घटना स्थल का वैज्ञानिक तरीके से निरीक्षण करते हुये साक्ष्य संकलित करवाये गये, दिनाॅक 19-9-2020 को मेडिकल की टीम के द्वारा शव का पीएम करवाया गया। पीएम की वीडियोग्राफी/फोटोग्राफी करवाई गयी। प्रकरण की गम्भीरता को दृष्टिगत रखते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा द्वारा आरोपी की पतासाजी एवं  गिरफ्तारी तथा सक्ष्य संकलन एवं विवेचना हेतु एस.आई.टी. का गठन किया गया  एवं स्वयं अपने निर्देषन में अनुसंधान कराया गया।

पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर भगवत सिंह चैहान (भा.पु.से.) द्वारा प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुये अज्ञात आरोपियों की पतासाजी एवं उनकी गिरफ्तारी पर 20 हजार रूपये के नगद पुरूस्कार की उद्घोषणा की गयी साथ ही स्वयं घटना स्थल का निरीक्षण करते हुये दिशा निर्देश दिये गये।

प्रांरभिक मर्ग जाॅच एवं चिकित्सकीय टीम द्वारा किये गये पोस्ट मार्टम में पाया गया कि अपहृत बालिका के साथ दुष्कर्म किया जाकर उसका मुह दबाकर उसकी हत्या कर दी गयी है। इस सनसनी खेज घटना को जबलपुर पुलिस के द्वारा चुनौती के रूप में स्वीकार कर थाना शहपुरा, पाटन ,झांसीघाट क्षेत्र में स्पेषल इनवेस्टीगेंषन टीम के द्वारा सतत् कैम्प कर सघन अनुसंधान प्रांरभ किया गया। लगभग पचास ग्रामीणो से पूछताछ कर सुराग हासिल किये गये।

दोैरान विवेचना के पतासाजी के दौरान मिली जानकारी के आधार पर संदेही  सोनू ठाकुर एवं शुभम मल्लाह को अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गयी जिसे पर सोनू ठाकुर ने बताया गया कि  घटना दिनांक को ग्राम बडादेव झासीघाट में दीपक मल्लाह की बडी लडकी के जन्मदिन पर ग्राम हरदुआ थाना पाटन से मेहमान लेकर आया था।

रात्रि में अपने साथी शुभम मल्लाह के साथ तीन अलग-अलग स्थानों पर शराब पी एवं पार्टी में आये मेहमानो को वहीं छोडकर रात्रि मेें ग्राम विलपठार के आसपास घुमते रहे। रात्रि करीबन 02ः00 बजे के आसपास उसने अपने साथी शुभम मल्लाह को घर के बाहर निगरानी के लिए छोडा एवं एक घर में घुसकर  02 वर्षीय बच्ची को सोते समय उठाकर कर नाचन तिराहे पर ले गये।

नाचन तिराहे पर अपने साथी शुभम मल्लाह को  मारूती ईको वेैनकी निगरानी करने को छोड दिया एवं स्वयं वह बच्ची को लेकर नाचन तिराहे से पगडन्डी के रास्ते से रेत के टीले पर ले गया, जहाॅ बच्ची के साथ दुष्कर्म किया एवं  मुॅह दबाकर हत्या कर दी तथा खेत की मेढ किनारे बच्ची के शव को ले जाकर डाल दिया, एवं  रात में ही वापिस जन्मदिन वाले घर में जाकर सो गया तथा सुबह बुकिंग पर लाये गये मेहमानो को लेकर वापिस हरदुआ चला गया। दोनो आरेापियों को प्रकरण मे विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाकर घटना में प्रयुक्त मारूति वैन की बरामदगी हेतु पुलिस रिमांड प्राप्त किया जा रहा है।  

उल्लेखनीय भूमिका: –  2 वर्षिय बच्ची की सनसनीखेज जघन्य अंधी हत्या का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में निरीक्षक प्रीति तिवारी महिला अपराध सेल, क्राईम ब्रांच के उप निरीक्षक चंद्रकांत झा चन्द्रकांत झा,  प्रआर धनजय सिंह, विजय शुक्ला, आरक्षक बुजेन्द्र सिंह, मोहित, बीरबल, नीरज तिवारी , दीपक, अमित श्रीवास्तव,  थाना प्रभारी शहपुरा उप निरीक्षक सीएम शुक्ला, उप निरीक्षक आरती मण्डलोई, सउनि टीकाराम , प्रधान  आरक्षक लाल सिंह , आरक्षक राम प्रकाश, दिनेश एवं सायबर सेल के आरक्षक  आदित्य, चंन्द्रिका की उल्लेखनीय भूमिका रही।  पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर भगवत सिंह चैहान (भा.पु.से.) द्वारा  टीम  को नगद पुरूष्कर से पुरूष्कृत करने की घोषणा  की गयी है।