गोली मारकर की हत्या – हत्या के बाद शवों को फूंका

प्रयागराज: संगम नगरी जहां एक तरफ प्रदेश सरकार अपराध को रोकने में लगी हुई है वहीं पर अपराध की घटनाएं दिन ब दिन बढ़ती  जा रही हैं। कल देर रात बेखौफ बदमाशों ने यहां दो की हत्या के बाद उनके शवों को पेट्रोल डालकर फूंक दिया।पूर्व पार्षद विष्णु निषाद व उसके साथियों ने मल्लाही टोला में रवि और उसके भतीजे बासू की गोली मारकर हत्या कर दी। हमलावरों ने दोनों को चाकू से गोदा, ईंट-पत्थर से हमला किया। इसके बाद पेट्रोल और केरोसिन डालकर शव जला दिया। शव फूंके जाने पर मुहल्ले वाले दौड़े तो हमलावरों ने बम फेंक उन्हें दौड़ा लिया। हत्या के दौरान दो बाइक भी फूंकी गई। मारे गए रवि के हाथ में तमंचा फंसा था, जबकि कई कारतूस वहां पड़े थे। आइजी मोहित अग्रवाल और एसएसपी नितिन तिवारी ने मौके पर पहुंच पूछताछ की। युवकों के बीच एक साल से रंजिश चली आ रही थी। जुए को लेकर भी विवाद हुआ था। दोपहर से ही हमलावर दोनों को तलाश रहे थे।झूंसी के कलवारी टोला वार्ड निवासी रवि निषाद (17) पुत्र अशोक और रिश्ते में उसका भतीजा बासू (16) पुत्र गुलाब निषाद रात करीब आठ बजे पड़ोस के मल्लाही टोला पहुंचे। वहां गली के मोड़ पर ही विष्णु निषाद पुत्र नन्हें की गुमटी है। रवि और बासू विष्णु से झगड़ा करने लगे। विष्णु अपने चार साथियों को पहले से बुलाए था। दोनों पक्षों में मारपीट होने लगी। विष्णु और उसके साथियों ने रवि और बासू को पीटकर जमीन में गिरा दिया। फिर सीने पर चाकू मारने के बाद दोनों को गोली मार दी।विष्णु की दुकान में केरोसिन था। हमलावरों ने दोनों पर केरोसिन छिड़क आग लगा दी। गुमटी के बगल दो बाइकें खड़ी थीं। उससे पेट्रोल निकाल शवों पर छिड़क दिया। शवों को जलाने के दौरान बाइक भी फूंक दीं। इस घटना के बाद हमलावर घर पर ताला लगाकर फरार हो गए।मुहल्ले में चीख पुकार मची तो रवि का भाई दिलीप निषाद दौड़ता हुआ पहुंचा। हमलावर ने गली में बम फेंक उसे खदेड़ लिया फिर फायरिंग और बमबाजी करते हुए निकल भागे। परिजनों और आसपास के लोगों ने बालू, मिट्टी डालकर आग बुझाई। हत्या की सूचना पर मृतक के परिवार के लोगों के साथ उनके गांववालों ने आरोपी पूर्व सभासद की दुकान में तोडफ़ोड़ व आगजनी की। रवि के पिता ने विष्णु, उसके पिता नन्हें समेत आठ लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। एसएसपी के मुताबिक, झगड़ा पहले से चल रहा था। रवि तथा बासू के परिवार के लोगों में इस घटना की सूचना मिलते ही कोहराम मच गया। यह लोग भी मौके पर पहुंचे और दुकान के साथ आरोपी को घर में तोडफ़ोड़ के बाद आगजनी कर दी। जमकर तोडफ़ोड़ करने के बाद वहां खड़ी दो बाइकें फूंक दीं। बवाल की सूचना मिली तो पुलिस मौके पर पहुंची। एसएसपी नितिन तिवारी के साथ ही आईजी मोहित अग्रवाल भी घटनास्थल पर पहुंचे।वहां पर तनाव को देखते हुए कई थानों की फोर्स भी बुला ली गई। पुलिस अफसर मौके पर पूछताछ में जुटे रहे। हत्या की वजह अभी स्पष्ट नहीं है। लोगों कहना है कि दोनों पक्षों के बीच पुरानी रंजिश चल रही थी। एक वर्ष पहले भी उनके बीच विवाद हुआ था। पुलिस ने आज आठ आरोपियों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी फरार चल रहे आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें बनाई गईं हैं। पुलिस का दावा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा। [ रिपोर्ट संजय गुप्ता, प्रयागराज]