पाटन अंतर्गत युवक की हुई अंधी हत्या का खुलासा, आरोपी पुलिस गिरफ्त में
इस ख़बर को शेयर करें

जबलपुर। पाटन ग्राम भुंवारा के तालाब में एक शव के उतराने की सूचना पर थाना प्रभारी पाटन श्री आसिफ इकबाल एवं एस.डी.ओ.पी. पाटन श्री देवी सिंह ठाकुर मौके पर पहुचे, देखा तो तालाब के पानी में उगी घांस एवं सिंघाडे की बेल तथा जलकुम्ही के बीच एक शव उतराता हुआ दिखा जिसके घुटने मात्र दिख रहे थे।

सूचना पर पहुंची एफएसएल प्रभारी डाॅ. सुनीता तिवारी मैडम एवं डाॅग स्क्वाड की उपस्थिति में शव को निकलवाया गया, शरीर पर कोई जाहिरा चोट के निशान नही थे, गले में छोटा सा चोट का निशान था, एक पैर मे जूता पहना था तथा एक पैर का जूता तालााब किनारे पड़ा था, शिनाख्तगी करायी गयी तो मृतक की शिनाख्त सुदीप चक्रवर्ती उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम भुंवारा के रूप में परिजनों द्वारा की गयी।

ग्राम भुंवारा निवासी बबलू उर्फ संतोष चक्रवर्ती ने बताया कि दिनाॅक 7-10-2020 को शाम 6 बजे उसका भांजा सुदीप चक्रवर्ती उम्र 19 वर्ष का गाॅव में घूमने जाने का कहकर घर से निकला था, देर रात तक घर वापस न लौटने पर दिनाॅक 8-10-2020 को रात लगभग 1 बजे थाना पाटन में गुमने की रिपोर्ट की थी।

टीम की उपस्थिति में शव एवं घटना का स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया गया, जिस स्थान पर तलाब में सुदीप चक्रवर्ती का शव उतरा रहा था उस स्थान पर करीब तीन फुट गहराई है, मृतक के कपड़े पर कांटेदार घुमंडी लगी हुई थी जो तालाब में नहीं पायी जाती है, पंचनामा कार्यवाही कर शव को पीएम हेतु भिजवाते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया गया।

घटित हुई घटना से वरिष्ठ अधिकारियेां को अवगत कराया गया, पुलिस अधीक्षक जबलपु सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा जानकारी लगने  पर लगभग 3  फुट पानी की गहराई में डूब कर मृत्यु होना संदेहास्पद मानते हुये जांच के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये ।

अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्शिवेश सिंह बघेल, एवं एस.डी.ओ.पी. पाटन श्री देवी सिंह ठाकुर के मार्ग निर्देशन में थाना प्रभारी पाटन श्री आसिफ इकबाल के नेतृत्व में  टीम गठित की गयी।

गठित टीम के द्वारा गाॅव में एवं परिजनों से पूछताछ की गयी तो ज्ञात हुआ कि दिनाॅक 7-10-2020 को  शाम 5-6 बजे मृतक सुदीप चक्रवर्ती गाॅव में अपने दोस्तो के साथ दिखा था उसके बाद गाॅव के ही तालाब में शौच के लिये गये था।

सुदीप चक्रवर्ती के जाने के कुछ देर बाद, गाॅव के पुरूषोत्तम चक्रवर्ती को भी गाॅव के तालाब के तरफ जाते हुये देखा गया  एवं शाम लगभग 7-30 बजे पुरूषोत्तम चक्रवर्ती को गीले कपड़े पहने हुये भागते हुये अपने घर की तरफ जाते हुये देखा गया था ।

संदेही पुरूषोत्तम चक्रवर्ती  की तलाश की गयी जो घर पर नहीं मिला पूछताछ पर माॅ, पत्नि एवं भतीजी ने बताया कि पुरूषोत्तम चक्रवर्ती की भतीजी को सुदीप चक्रवर्ती आये दिन घर के सामने खडे होकर सीटी बजाकर, इशारे कर परेशान करता था, जिससे घर के सभी लोग काफी परेशान थे, पुरूषोत्तम चक्रवर्ती ने भाग कर घर आने के बाद घर वालों को बताया था कि उसने तालाब के पानी में डुबो कर सुदीप चक्रवर्ती को मार डाला है। दौरान विवेचना के संकलित साक्ष्य के आधार पर धारा 302, 201 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

आरोपी पुरूषोत्तम चक्रवर्ती उम्र 45 वर्ष निवासी ग्राम भुंवारा को सरगर्मी से तलाश कर अभिरक्षा में लेकर सघन पूछताछ की गयी तो  पुरूषोत्तम चक्रवर्ती ने बताया कि दिनाॅक 7-10-‘2020 को शाम लगभग 7 बजे तालाब तरफ घूमने गया था, तालाब के पास सुदीप चक्रवर्ती मिला तो गुस्से में उसने सुदीप का हाथ व गला पकड़ा तथा जमीन पर पटक दिया।

तथा घसीटते हुये पास ही तालाब के पानी में ले गया तथा गर्दन दबाकर पानी में डूबोकर सुदीप की हत्या कर दी तथा, सुदीप के शव को तालाब के पानी में लगी घांस एवं लताओं के बीच में फंसा कर छिपा दिया ताकि किसी को शव के बारे मे पता न चल सके। प्रकरण में आरोपी पुरूषोत्त्म चक्रवर्ती को विधिवत गिरफ्तार का मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका

अंधी हत्या का खुलासा कर आरोपी की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी पाटन आसिफ इकबाल, उप निरीक्षक अर्चना सल्लाम, परीविक्षाधीन उप निरीक्षक प्रदीप तोमर, सउनि सहाब सिंह पटेल, एम.पी. सोनी, आरक्षक अमित पाण्डे, अनुराग रैकवार, एवं आरक्षक चालक  दिनेश मीणा की सराहनीय भूमिका रही।