महबूबा मुफ्ती के तिरंगा विरोधी बयान का मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने किया कड़ा विरोध, कहा- तत्काल गिरफ्तार करों

नई दिल्ली। हिन्दुतान के राष्ट्रवादी संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच ने जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के तिरंगा विरोधी बयान का कड़ा विरोध किया है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के प्रदेश संयोजक मोहम्मद साबरीन ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा ने कश्मीर में धारा 370 बहाल करवाने के लिए राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा को ना पकड़ने वाला बयान देकर राष्ट्रविरोधी काम किया है। इसलिए महबूबा मुफ़्ती के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर तुरन्त गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

प्रदेश संयोजक मोहम्मद साबरीन ने कहा है कि कश्मीर में सत्ता हथियाने के लिये जो राजनैतिक लोग गठजोड़ करके कश्मीर में अमन शांति नहीं बनने देना चाहते हैं, उनको भी बेनकाब किया जायेगा। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच काफी समय से मार्गदर्शक इन्द्रेश कुमार के नेतृत्व में कश्मीरी नौजवानों को मुख्यधारा में लाने के लिए काम कर रहा है। जिस प्रकार कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के लिए जन जागरण अभियान चलाया गया था, उसी तर्ज पर पीओके को वापस लेने और आतंकवाद को खत्म करने के लिये छात्र एवं नौजवानों की पीस कमेटी बनाकर जन जागरण अभियान चलाएंगे।

मोहम्मद साबरीन ने बताया कि आज कश्मीर की अवाम आतंकवाद से तंग आ चुकी है क्योंकि नौजवानों की जिंदगी बर्बाद हो रही हैं। उसे अब मिलकर रोकना होगा और उजड़े हुए कश्मीरी पंडितों को वापस घाटी में बसाना होगा। इस मुहिम में पूरा हिन्दुस्तान कश्मीर के साथ खड़ा है। उन्होंने मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की ओर से कश्मीरी अवाम से अपील की कि खुशहाल कश्मीर और अखण्ड व आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए आगे आएं ताकि कश्मीर में फिर से अमन शान्ति बन सके।