राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ढाई आखर पत्र लेखन अभियान

312

राष्ट्रीय स्तर का पत्र लेखन अभियान– ढाई आखर, डाक विभाग द्वारा आयोजित एक अभियान है जिसका उद्देश्य देश में पत्र लेखन की कला को बढ़ावा देना है। ढाई आखर पत्र लेखन अभियान का विषय है- मेरे देश के नाम खत, जो रवींद्रनाथ टैगोर की “आमार देशेर माटी” से प्रेरित है।

सर्किल स्तर पर प्रत्येक श्रेणी में विजेताओं को पुरस्कार दिया जाएगा:
प्रत्येक श्रेणी में पहला पुरस्कार: 25000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में दूसरा पुरस्कार: 10000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में तीसरा पुरस्कार: 5000 रुपये / –

राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक श्रेणी में विजेताओं को पुरस्कार दिया जाएगा:
प्रत्येक श्रेणी में पहला पुरस्कार: 50000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में दूसरा पुरस्कार: 25000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में तीसरा पुरस्कार: 10000 रुपये/-

जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर 2018 है।

नियमों और शर्तों को पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

अंतर्राष्ट्रीय स्तर

पत्र ए -4 आकार के सादे कागज पर 1000 शब्द की सीमा में लिखे हों और इसे सहायक महानिदेशक (फिलेटेली), डाक विभाग, कमरा संख्या 108, डाक भवन, संसद मार्ग, नई दिल्ली – 110001. पर भेजें।

30-09-2018 तक पोस्ट किए गए केवल हस्तलिखित पत्र स्वीकार किए जाएंगे। पत्र की एक स्कैन प्रति 30-09-2018 (23:59 IST) तक माईगोव पोर्टल पर जमा की जा सकती है; लेकिन पत्र की हार्ड कॉपी 30-09-2018 तक डाक द्वारा प्रेषित कर दी जानी जाएगी। माईगोव पोर्टल पर 30-09-2018 को अपलोड किए गए वैसे पत्र जिस पर 30-09-2018 के बाद का डाक चिह्न होगा, स्वीकार नहीं किया जाएगा।

भारत के बाहर रहने वाले सभी अनिवासी भारतीयों और भारतीय मूल के व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय स्तर के ढाई आखर पत्र लेखन अभियान में भाग ले सकते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रत्येक श्रेणी में पुरस्कार दिया जाएगा:
प्रत्येक श्रेणी में पहला पुरस्कार: 50000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में दूसरा पुरस्कार: 25000 रुपये / –
प्रत्येक श्रेणी में तीसरा पुरस्कार: 25000 रुपये / –

जमा करने की अंतिम तिथि 30 सितंबर 2018 है।

नियमों और शर्तों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

प्रतियोगिता से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए लिखें:
श्री अभिनव प्रताप सिंह
सहायक महानिदेशक (फिलेटेली)
abhinavpratap.singh@gov.in (link sends e-mail)