नेपाली नागरिक का सिर मुंडवाकर उस पर ‘जय श्री राम’ लिखवाने के आरोप में 4 लोग गिरफ्तार
इस ख़बर को शेयर करें

नेपाल के प्रधानमंत्री के.पी. शर्मा ओली के अयोध्या को लेकर दिए गए बयान के विरोध में वाराणसी (उत्तर प्रदेश) में एक नेपाली नागरिक का सिर मुंडवाकर उस पर ‘जय श्री राम’ लिखवाने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हिंदू सेना का अध्यक्ष और मुख्य आरोपित अरुण पाठक अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। नेपाली युवक का सिर मुंडन कराने और सिर पर जय श्रीराम लिखवाने का एक वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ था।

वायरल वीडियो गंगा किनारे किसी घाट पर बनाया गया था जिसमें नेपाल का मूल निवासी युवक ओली के खिलाफ नारेबाजी और जय श्रीराम का उद्घोष करते हुए दिख रहा है। विश्व हिंदू सेना के अध्यक्ष अरुण पाठक ने शहर में कुछ जगह पोस्टर भी लगवाए थे जिसमें पीएम ओली के माफी न मांगने पर भारत में रहने वाले नेपाल के लोगों को गंभीर परिणाम की चेतावनी दी गई थी। वीडियो वायरल होने पर हरकत में आई भेलूपुर पुलिस ने गुरुवार रात में ही अरुण पाठक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। 

एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि इस मामले में संतोष पाण्डेय, अमित दुबे, आशीष मिश्रा और राजू यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके खिलाफ भेलूपुर थाने में प्रभारी इंस्पेक्टर ने आईपीसी की धारा 505(2) व 295 तथा 67 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। वहीं घसियारी टोला की वीडीए कॉलोनी में रहने वाला अरुण पाठक अभी फरार है।

नेपाल के युवक का सिर मुंडन कराने और आपत्तिजनक पोस्टर लगाने के प्रकरण को प्रदेश के डीजीपी एचसी अवस्थी ने भी गंभीरता से लिया है। उन्होंने एसएसपी अमित पाठक को शरारती तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया। डीजीपी के हस्तक्षेप के बाद स्थानीय पुलिस सक्रिय हो गई है।