पीएम मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर देश के विकास के लिए न्यू इंडिया का किया आह्वान

स्वाधीनता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकिले की प्राचीर से साल 2022 तक न्यू इंडिया बनाने का आह्वान किया। उन्होंने देश की आजादी के दीवानों की उम्मीद के मुताबिक समृद्ध, शक्तिशाली और विज्ञान के क्षेत्र में अग्रणी भारत बनाने का संकल्प जताया।

न्यू इंडिया यानी अमर सेनानियों के सपनो का भारत, न्यू इंडिया यानी मां भारती की रक्षा में अपना आत्मोत्सर्ग करने वाले अमर सुपूतों का भारत संविधान निर्माताओं के सपना का भारत जहां भेद भाव न हो बस ममता और समता हो । जहां हमारे राष्ट्र ऋषियों की अंतर्दृष्टि और हमारे नौनिहालों के सपनो का मिलन हो। न्यू इंडिया जिसकी बुनियाद में राष्ट्रजीवियों का रक्त और प्राचीर में श्रमजीवियों का पसीना हो, जिसके शीर्ष पर गर्व से तिरंगा लहराता हो।

प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी ने आजा़दी 70वीं वर्षगांठ पर सवा सौ देशवासियों से नए भारत के निर्माण में प्राण प्रण से जुट जाने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री मोदी बोले कि न्यू इंडिया जो सुरक्षित हो, समृद्ध हो, शक्तिशाली हो. जहां सभी को समान अवसर मिलें, जहां आधुनिक विज्ञान का दबदबा हो। स्वतंत्रता संग्राम हमारी भावनाओं से जुड़ा है, आजादी के दौरान हर कोई देश की सेवा कर रहा था।

लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री ने साफ कर दिया कि नए भारत में आवश्यक्ता है समूचा तंत्र लोक भावनाओं का प्रतिबिंब दिखे। प्रधानमंत्री ने नए भारत के निर्माण में तरुणाई की अंगड़ाई और युवा शक्ति के सम्मिलन से एक समावेशी भारत निर्माण का आह्वान किया और भारत छोड़ो आंदोलन के 75वें वर्ष के इस सवाधीनता दिवस पर प्रधानमंत्री ने जातिवाद, संप्रदायवाद, को समाप्त कर नए भारत जोड़ो का नया नारा दिया।