कोई भी बाढ़ से प्रभावित व्यक्ति राहत खाद्य सामग्री बैग से वंचित न होने पाये: मुख्य सचिव

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजीव कुमार ने कहा कि प्रदेश में बाढ़ से प्रभावित लोगों की मदद हेतु आवश्यक सुविधायें प्राथमिकता से उपलब्ध कराने एवं राहत कार्यों की प्रतिदिन रिपोर्ट सम्बन्धित जनपदों से प्रातः प्राप्त कर संभावित विभाग आवश्यक सुविधायें समय से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि बाढ़ से क्षतिग्रस्त होने वाले बन्धों की मरम्मत तथा अवशेष बंधो को क्षतिग्रस्त होने से रोकने के लिये अनुभवी अभियंताओं को बंधेवार स्थल पर तैनात कर निरन्तर निगरानी सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि प्रभावित लोगों को वितरित की जाने वाली एक सप्ताह की राहत खाद्य सामग्री बैग का वितरण शत-प्रतिशत रविवार तक प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराकर सोमवार को प्रातः आयोजित बैठक में रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी। उन्होंने कहा कि कोई भी बाढ़ से प्रभावित व्यक्ति राहत खाद्य सामग्री बैग से वंचित न होने पाये।

मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में प्रदेश में बाढ़ से प्रभावित जनपदों में चल रहे राहत कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रमुख अभियंता सिंचाई को प्रतिदिन जनपदवार एवं बांधवार बाढ़ सम्बन्धित जानकारी प्राप्त कर आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता से सुनिश्चित कराते हुये उच्च अधिकारियों को अवगत कराना अनिवार्य होगा। उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित क्षतिग्रस्त पुलियों को निर्माण भी प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाये, ताकि आवागमन हेतु आम नागरिकों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाये।

श्री राजीव कुमार ने बाढ़ के उपरान्त संक्रामक बीमारियों की रोकथाम हेतु चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि आवश्यक दवाइयां की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुये संक्रामक क्षेत्रों में छिड़काव भी समय से कराना सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि बुन्देलखण्ड एवं आगरा मण्डलों के जनपदों में कम वर्षा होने से संभावित सूखे को दृष्टिगत रखते हुये आवश्यक व्यवस्थायें समय से सुनिश्चित करा ली जायें, ताकि किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाये।

बैठक में प्रमुख सचिव सिंचाई, प्रमुख सचिव राजस्व, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, प्रमुख सचिव गृह सहित सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।