कर्नलगंज थाने से लापता हुई किशोरी का 19 दिन बाद भी कोई पता नहीं

प्रयागराज :प्रयागराज कर्नलगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत कर्नलगंज थाने से गायब हुई मूकबधिर किशोरी 17 वर्षीय खुशबू जिसका पता 19 दिन बाद भी पुलिस नहीं लगा सकी। किशोरी के माता-पिता को शिवकुटी से कर्नलगंज के बीच में दौड़ाया   जा रहा है। खुशबू के पिता अपनी बेटी के साथ किसी अनहोनी होने की शंका सताए जा रही है। पर पुलिस का कहना है कि खोजते रहो कहीं किसी दिन मिल जाएगी। ऐसे असंतोष से जवाब संतोष कुमार की सहनशक्ति समाप्त करते जा रहे हैं। संतोष कुमार का भरोसा पुलिस प्रशासन से उठता जा रहा है। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने खुशबू की अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर उसकी एक प्रतिलिपि संतोष कुमार को दे दी। शिवकुटी के पूरे मोहल्ला गडरिया के रहने वाले संतोष कुमार जो टाली चला कर अपना जीवन यापन करते हैं। उनकी पुत्री 17 वर्षीय मूक बधिर खुशबू 12 अगस्त की रात करीब 9:00 से 10:00 के बीच में घर के बाहर से लापता हो गई आधी रात को लोगों ने प्रयाग स्टेशन के पास भटकता देखा तो हंड्रेड डायल को सूचना दी गई। हंड्रेड डायल पुलिस कर्नलगंज थाने ले गई जहां उसे रात भर महिला सिपाही की निगरानी में रखा गया। सुबह थाने से गायब हो गई। बेटी को खोजते हुए माता-पिता कर्नलगंज थाने गए तो उन्हें भी यही बताया गया कि लड़की रात भर थाने में रही फिर वह पता नहीं कहां चली गई। तब से संतोष कुमार को कर्नलगंज और शिवकुटी थाने के बीच दौड़ाया जा रहा है। उनकी फरियाद पर एसएसपी ने आदेश दीया तो कर्नलगंज थाने ने खुशबू के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की बेटी के बारे में पूछने पर पुलिस टका सा जवाब देती है। कहीं भटक रही होगी। वहीं इसी घटना में डीआईजी के पी सिंह ने भी माना है कि पुलिस से बड़ी लापरवाही हुई है। लड़की को थाने से अकेले नहीं जाने दिया जा सकता है।इतनी बड़ी लापरवाही कैसे हो गई  जांच की जा रही है और दोषियों को सजा दी जाएगी[ ब्यूरो रिपोर्ट]