राशि के दुरूपयोग करने पर बर्डिया गुर्जर के पूर्व सरंपच एवं तत्कालीन सचिव को नोटिस

इस ख़बर को शेयर करें:

शाजापुर @ स्वच्छ भारत अभियान के तहत ग्रामों को खुले में शौच से मुक्त कराने के लिए ग्राम पंचायत बर्डियागुर्जर को सौपी गई राशि के दुरूपयोग करने के कारण पूर्व सरपंच कैलाश बाई-दिलीपसिंह एवं तत्कालीन सचिव बद्रीलाल कराड़ा (वर्तमान में टाण्डा पिन्दोनिया में पदस्थ) को जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. वीरेन्द्र सिंह रावत ने कारण बताओ सूचना पत्र देकर 13 सितम्बर तक जवाब मांगा है।

उल्लेखनीय है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत ग्राम पंचायत बर्डिया गुर्जर को 140 व्यक्तिगत शौचालय के लिए प्रथमकिश्त के रूप में 8 लाख 27 हजार रूपए वेंडर के माध्यम से प्रदान किए गए थे। इसके बाद द्वितीय किश्त के प्रस्ताव पर 65 शौचालयों की द्वितीय किश्त की राशि भी वेंडर के माध्यम से दी गई थी। 65 हितग्राहियों में से 23 हितग्राहियों के शौचालय पूर्ण हुए है। जबकि 42 हितग्राहियों की राशि 3 लाख 30 हजार अवरूद्ध करते हुए शासकीय राशि का उपयोग न करते हुए दुरूपयोग किया गया। इस प्रकार सरपंच को नोटिस देते हुए पुछा गया है कि राशि के दुरूपयोग के लिए क्यो न अपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध किया जाए। साथ ही पंचायत सचिव को नोटिस देते हुए शासकीय धनराशि के दुरूपयोग पर अनुशासनात्मक कार्यवाही एवं अपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध करने  संबंध में नोटिस दिया गया है।