यूपी : अब अस्थाई बिजली कनेक्शन के लिए चुकानी होगी इतनी कीमत, कंपनियों का प्रस्ताव

लखनऊ। बिजली कंपनियों द्वारा नियामक आयोग में दाखिल बिजली दर के नये स्लैब में अस्थाई कनेक्शन का चार्ज आधे से भी कम पर किए जाने का प्रस्ताव है। यह प्रस्ताव नियामक आयोग से पास हुआ तो दशहरा और अन्य धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों पर लिए जाने वाले अस्थाई कनेक्शन के लिए महज 2000 रुपये देने होंगे। अभी 15 दिन के अस्थाई कनेक्शन के लिए 4500 रुपये बिजली कंपनियां लेती हैं।

टैरिफ पालिसी के तहत 80 से 53 पर लाए गए बिजली के प्रस्तावित स्लैब में तमाम विसंगतियों को दूर करने की कोशिश की गई है। पावर कारपोरेशन के चेयरमैन तथा प्रमुख सचिव ऊर्जा अरविंद कुमार का कहना है कि राज्य में पर्याप्त बिजली उपलब्ध है, जिसे देखते हुए बिजली दर को व्यवस्थित करने की मंशा से नए स्लैब का प्रस्ताव किया गया है।

समय-समय पर विभिन्न आयोजनों के लिए लोगों व संस्थाओं द्वारा लिए जाने वाले अस्थाई कनेक्शन को काफी सस्ता करने का प्रस्ताव किया गया है। इस नए दर से लोग आसानी से धार्मिक व सामाजिक आयोजनों के लिए अस्थाई कनेक्शन ले सकेंगे। गैरकानूनी तरीके से अस्थाई कनेक्शन लेने से लोग बचेंगे।

गांवों व शहरों में स्ट्रीट लाइट का एक स्लैब

उन्होंने कहा है कि नए स्लैब में घरेलू लाइफ टाइम उपभोक्ता जो 100 यूनिट तक खर्च करते हैं, किसानों तथा उद्योगों का ध्यान रखा गया है। इनके स्लैब में कोई परिवर्तन नहीं प्रस्तावित है। वहीं छोटे दुकानदार जो 100 यूनिट तक बिजली खर्च करते हैं, उन्हें भी नये स्लैब से काफी राहत मिल जाएगी।

अब गांवों में भी शाम को सात बजे से पांच घंटे तक स्ट्रीट लाइट दी जा रही है। इसलिए शहर व गांव दोनों के स्ट्रीट लाइट के स्लैब को एक किया गया है। प्रमुख सचिव का कहना है कि नये स्लैब से कुछ उपभोक्ताओं को फायदा होगा तो कुछ उपभोक्ताओं को थोड़ा नुकसान बी हो सकता है। लेकिन जब दर तय करने की बारी आएगी उस समय उपभोक्ताओं की सहुलियतों को ध्यान रखा जाएगा।