मोबाइल चोरी होने पर इस नंबर पर करें कॉल, मिलेगी तुरंत मदद

इस ख़बर को शेयर करें:

मोबाइल चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए सी डॉट नई योजना बना रहा है। नए सिस्टम की मदद से चोरी हुए मोबाइल का आईएमईआई नंबर नहीं बदला जा सकेगा। ऐसा करने पर मोबाइल पूरी तरह से बेकार हो जाएगा।

नई दिल्ली: हमारे आसपास और कई बार हम भी मोबाइल चोरी होने की घटना के शिकार हुए होंगे। भीड़ भाड़ वाले शहरों की बात करें तो यहां हर रोज ही न जाने कितने लोगों के मोबाइल चोरी हो जाते हैं। इस प्रकार की घटनाओं से निपटने के लिए दूरसंचार प्रौद्योगिकी केंद्र ने अपनी कमर कस ली है। इससे बचने के लिए ऐसा सिस्टम तैयार किया गया है, जिससे चोरी हुए मोबाइल का इस्तेमाल रोका जा सकता है।

दरअसल, ज्यादातर चोरी हुए मोबाइल फोन का आईएमईआई नंबर बदलकर उन्हें बेच दिया जाता है। जिससे चाहकर भी मोबाइल को ट्रेस नहीं किया जा सके। लेकिन नए सिस्टम की मदद से जैसे ही कोई आपके मोबाइल का आईएमईआई का नंबर बदलता है, तो स्मार्टफोन पूरी तरह से बेकार हो जाएगा। जिसके बाद इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है।

सी डॉट ने रजिस्टर एमईआर सिस्टम तैयार किया है, जिसकी मदद से चोरी हुए फोन को आसानी से ट्रेस किया जा सकेगा। इसके लिए सरकार ने नए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। जिन लोगों को मोबाइल चोरी या खो गया हो वे लोग 14422 पर कॉल करके के शिकायत दर्ज करा सकते हैं। अभी इस सिस्टम का ट्रायल चल रहा है।

रिपोर्ट्स की मानें तो अगले 2 से 3 हफ्तों में इसे महाराष्ट्र में लागू किया जा सकता है। वहीं दिसंबर तक इसे लगभग 21 अन्य सर्किल्स में भी शुरू कर दिया जाएगा। गौरतलब है कि चोरी के मोबाइल बेचने वाले कई गिरोह देशभर में सक्रिय हैं।

ये लोग स्मार्टफोन चोरी कर उसका आईएमईआई नंबर बदल देते हैं। इन घटनाओं को कम करने के लिए ये सिस्टम तैयार किया है। जिसकी मदद से चोरी के मोबाइल ट्रेस किए जा सकेंगे और कोई आईएमईआई नंबर बदलता है तो स्मार्टफोन पूरी तरह से बेकार हो जाएगा।