किशोर न्याय अधिनियम के अंतर्गत संस्थाएं कराएं अपना पंजीकरण

महोबा@ जिला प्राबेशन अधिकारी द्वारा जारी विज्ञप्ति में बताया गया कि किशोर न्याय (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम 2015 की धारा 41 में प्रावधान है कि सभी ऐसी संस्थाऐं चाहे वे राज्य सरकार द्वारा चलायी जा रही हों या स्वैच्छिक अथवा गैर सरकारी संगठनों के द्वारा चलायी जा रही हो जो पूर्णतः या भागतः देखरेख और संरक्षण के जरूरतमंद बालकों या विधि का उल्लंघन करने वाले बालकों को रखने के लिये आशयित है।

जो जनपद महोबा में संचालित हैं।वे समस्त संस्थाध्यक्ष अपने गृृहों को महिला कल्याण विभाग में पंजीकरण करा लें या पूर्व में पंजीकृृत हो तो अपना नवीनीकरण 31 अगस्त 2017 तक करा लें।ऐसा न करना उपरोक्त अधिनियम की धारा 42 का उल्लंघन है।संस्था के भार साधक व्यक्ति के खिलाफ विधिक एवं दण्डात्मक कार्यवाही प्रारम्भ कर दी जाएगी।