जिलाधिकारी की अध्यक्षता में तहसील दिवस का आयोजन

अमरोहा@ जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में आज विकास खण्ड धनौरा परिसर में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में आने वाली शिकायतों को गम्भीरता से सुना और गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्देशों का सभी संबंधित अधिकारी समुचित एवं सम्पूर्ण निस्तारण करेगें।

सम्पूर्ण समाधान दिवस में जनसामान्य को विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गत मिलने वाली सुविधाओं को सुगमता से उपलब्ध कराया जायेगा। सामान्य जन को शासकीय सुविधाओं की डिलवरी विभिन्न कार्योलयों के स्थान पर यथासम्भव एक ही स्थान पर सुगमता से उपलब्ध कराया जायेगा व जनसामान्य एवं अधिकारियों के बीच सीधा संवाद स्थापित किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि सामान्य जन द्वारा सुविधाआ एवं समय के अपव्यय को समाप्त करना है। किसी भी शिकायत को लम्बित न रखा जाए और 07 दिन के अन्दर शिकायतों का निस्तारण कर दिया जाये। उन्होने कहा कि ज्यादा से ज्यादा 15 दिन से अधिक नही होना चाहिए।

उन्होने कहा कि जनपद स्तरीय अधिकारी शासन की मंशा के अनुरूप पूर्ण मेहनत, ईमानदारी और मनोयोग से कार्य करें। शासन की मंशा है कि जो योजनाऐं चलाई जा रही है उनका लाभ सिर्फ लाभार्थी को मिलना चाहिए। उन्होने कहा कि गरीबों का हक किसी भी कीमत पर छीना नही जाये और गरीबों, महिलाओं और किसानों के साथ प्रेमपूर्वक व्यवहार करें। और उनकी समस्याओं का निस्तारण ईमानदारी पूर्वक करें।

जिलाधिकारी ने कहा कि शिकायतों का शीघ्रता से समाधान गुणवत्ता पूर्ण वास्तविकता से करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शिकायत के निस्तारण में गुणवत्ता की कमी पाई जाती है तो सम्बंधित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।

जिलाधिकारी ने सख्त निर्देश देकर कहा कि जो शिकायतें सम्पूर्ण समाधान दिवस में आई हैं उन शिकायतों की जांच की जाये और आने वाली शिकायतों का निस्तारण शीघ्र अतिशीघ्र किया जाये। तहसील दिवस में राजस्व की 22 पुलिस की 22, विकास की 24, समाज कल्याण विभाग की , शिक्षा की 01, चकबंदी, आपूर्ति, नगर पालिका की, पी0डब्ल्यू0डी0, ए0आर0टी0ओ0, विद्युत, पंचायत राज, आपूर्ति, जलनिगम ,गन्ना विभाग , विनिमत क्षे़त्र और बैंक की आदि सहित अन्य विभागों 42 की शिकायतो सहित कुल 111 शिकायतें प्राप्त हुई, जिनमे से एक भी शिकायत का निस्तारण मौके पर नही हुआ। जिलाधिकारी ने कहा कि चकरोड, अवैध पटटा कब्जा, तालाब आदि पर अवैध कब्जों को तत्काल कब्जा मुक्त कराया जाये। उन्होने कहा कि अमरोहा मेे तालाबों के अवैध कब्जे की शिकायत पर यथोचित जांच कराकर कब्जा मुक्त करायें ।

जिलाधिकारी ने कहा कि शिकायतों का निस्तारण बारीकी से करें। उन्होने कहा कि शिकायत कर्ता को पूर्ण रूप से संतुष्टी मिलनी चाहिए, यदि शिकायत कर्ता निस्तारण से संतुष्ट नही है तो वह निस्तारण निष्क्रीय माना जाता है।
सम्पूर्ण समाधान दिवस में मुख्य विकास अधिकारी श्री चन्द्रपाल सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार मिश्र, उपजिलाधिकारी श्री संजीव कुमार, तहसीलदर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी श्री संजय कुमार जैन, एस0ओ0सी0 सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।