पचमढ़ी उत्सव 25 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक

इस ख़बर को शेयर करें:

होशंगाबाद @ प्रति वर्ष की भाति इस वर्ष भी होशंगाबाद जिले के पर्यटन स्थल पचमढ़ी में पचमढ़ी उत्सव वर्ष 2018 का आयोजन किया जायेगा। 25 दिसम्बर से 30 दिसम्बर तक स्थानीय शासकीय हाईस्कूल फुटबाल ग्राउंड पचमढ़ी में पचमढ़ी उत्सव का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, कार्निवाल, रंगोली प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया जायेगा। कलेक्टर प्रियंका दास ने पचमढ़ी उत्सव के सुचारू संचालन के लिए जिले के अधिकारी एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है।

कलेक्टर ने पचमढ़ी उत्सव के प्रभारी अधिकारी के रूप में अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी की ड्यूटी लगाई है। उत्सव के दौरान समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों के कार्यो की मानिटरिंग समयसीमा में कराया जाना सुनिश्चित करेंगे। उत्सव में कानून व्यवस्था के प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी आदित्य रिछारिया, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस पिपरिया रण विजय सिंह कुशवाह एवं तहसीलदार टीके कहार रहेंगे। आपदा एवं सुरक्षा व्यवस्था के लिए कमान्डेंट होमगार्ड आरकेएस चौहान की, पार्किंग एवं यातायात व्यवस्था हेतु अनुविभागीय अधिकारी पुलिस रणविजय सिंह कुशवाह एवं थाना प्रभारी पचमढ़ी रवीन्द्र पाराशर की, पंडाल एवं स्टॉल सुरक्षा हेतु कोटवारो की ड्यूटी की व्यवस्था तहसीलदार टीके कहार की, प्रोटोकॉल हेतु तहसीलदार टीके कहार एवं नायब तहसीलदार सुनील दुबे की रहेगी।

समारोह स्थल पर साफ-सफाई की व्यवस्था मुख्य कार्यपालन अधिकारी साडा पवन राय, सीएमओ नगर पालिका पिपरिया विनोद प्रजापति, उपयंत्री साड़ा पीके स्थापक एवं उपयंत्री केन्ट आरपी आचार्य की रहेगी। पेयजल व्यवस्था की संपूर्ण जिम्मेदारी उपयंत्री पीएचई केजी महेश्वरी की, विद्युत व्यवस्था हेतु उर्जा विभाग के कार्यपालन यंत्री भीमराव नरवरे, कनिष्ठ यंत्री महेश झरबड़े की रहेगी। संपूर्ण चिकित्सा व्यवस्था हेतु सीएमएचओ डॉ.जेएस अवास्या की, वाहन व्यवस्था हेतु आडिटर राजेश ठाकुर की, बस व्यवस्था हेतु डिप्टी कलेक्टर आरएस बघेल की ड्यूटी लगाई गई है। भोजन व्यवस्था हेतु सहायक संचालक उद्यान सर्वेश तिवारी की, कक्ष अधिग्रहण हेतु अपर कलेक्टर केडी त्रिपाठी की, आवास व्यवस्था हेतु लेखापाल सवाई सिंह भाटी की डयूटी लगाई गई है।

कलेक्टर ने जिले के बाहर से आने वाले शिल्पी, बुनकर, विपणन कर्ताओं, स्वसहायता समूहो के आवास व्यवस्था हेतु डिप्टी कलेक्टर आरएस बघेल की, वीआईपी एवं अति विशिष्ट अतिथियों की बैठक व्यवस्था हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी साडा पवन राय की, उत्सव में लगने वाले फ्लेक्स एवं आमंत्रण कार्ड हेतु जिला प्रबंधक लोकसेवा आनंद झेरवार की, सैल्फी पाइंट व्यवस्था हेतु जिला प्रबंधक लोकसेवा आनंद झेरवार की, स्टेज व्यवस्था हेतु संचालक संजय गांधी संस्थान के संचालक आरके शर्मा की, संपूर्ण उत्सव स्थल पर टेंट एवं साउंड व्यवस्था हेतु अनुविभागीय अधिकारी पीडब्लूडी मुकेश श्रीवास्तव की।

प्रमाण पत्र एवं मोमेन्टो व्यवस्था हेतु प्राचार्य पीके जैन की, आमंत्रितो की सूची तैयार करने के लिए किशोर सिलधरिया की, फूड जोन व्यवस्था हेतु जिला आपूर्ति नियंत्रक अधिकारी विनोद चौहान की, फूड जोन उत्सव के दौरान बनाये जाने वाले भोजन की गुणवत्ता का परीक्षण करने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारी शिवराज पावक की, बेरीकेटिंग एवं अलाव व्यवस्था हेतु सहायक संचालक एसटीआर संजीव शर्मा की, स्टॉल आवंटन हेतु डीपीएम आशीष शर्मा की ड्यूटी लगाई गई है।

कलेक्टर ने पचमढ़ी स्थित समस्त होटल की सजावट हेतु मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक अजय शर्मा की, उत्सव के दौरान चिन्हित स्थानो पर पर्याप्त व आकर्षक फूलमाला, गुलदस्ते एवं पुष्प प्रदर्शनी की प्रतियोगिता आयोजित करने हेतु उप संचालक उद्यान एमएल उइके की, एसटीआर पचमढ़ी द्वारा हर्बल पौधो एवं पचमढ़ी में पाई जाने वाली जैविक औषधियों की प्रदर्शनी एवं विक्रय व्यवस्था हेतु सहायक संचालक एसटीआर संजीव शर्मा की, वित्तीय एवं लेखा कार्य के लिए लेखापाल सवाईसिंह भाटी की ड्यूटी लगाई है।

पचमढ़ी में उत्सव के दौरान कंट्रोल रूम स्थापित किया जायेगा। कंट्रोल रूम शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में स्थापित किया जायेगा। कंट्रोल रूम में कम्प्यूटर ऑपरेटर अमजद खान, कार्निवल के आयोजन के लिए प्राचार्य पीके जैन की, फ्लैश मोब हेतु प्राचार्य पीके जैन की, रॉक गार्डन पर मंच व्यवस्था हेतु उपयंत्री आरपी आचार्य की, रंगोली, मेंहदी, पोस्टर प्रतियोगिता हेतु डाईट प्राचार्य एसी गौर की तथा उत्सव स्थल पर लेबर व्यवस्था हेतु अनुविभागीय अधिकारी लोक निर्माण विभाग मुकेश श्रीवास्तव की ड्यूटी लगाई गई है। कलेक्टर प्रियंका दास ने सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को निर्देश दिये हैं कि वे पचमढ़ी उत्सव के संबंध में सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन पूर्ण जिम्मेदारी से किया जाना सुनिश्चित करें। कार्यक्रम के दौरान यदि किसी भी प्रकार की लापरवाही दर्शित की जायेगी तो संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।