25 सितम्बर से धान खरीद की जाएगी

प्रदेश के खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा इस वर्ष 50 लाख मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य रखा गया है। धान क्रय हेतु प्रदेश में 3000 क्रय केन्द्र खोले जायेंगे। आगामी 25 सितम्बर से धान खरीद शुरू की जाएगी। खाद्य एवं रसद विभाग से मिली जानकारी के अनुसार यह क्रय केन्द्र विभिन्न एजेन्सियों द्वारा संचालित होंगे। इन एजेन्सियों के लिए धान खरीद का लक्ष्य भी निर्धारित कर दिया गया है।

खाद्य विभाग की विपणन शाखा द्वारा 650 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 12 लाख मीट्रिक टन, उ0प्र0 राज्य खाद्य एवं आवश्यक वस्तु निगम द्वारा 100 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 3 लाख मीट्रिक टन, उ0प्र0 कर्मचारी कल्याण निगम द्वारा 150 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 4 लाख मीट्रिक टन, उ0प्र0 सहकारी संघ द्वारा 1300 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 10 लाख मीट्रिक टन, 10 लाख मीट्रिक टन धान खरीद की जाएगी।

इसी प्रकार उ0प्र0 कोआॅपरेटिव यूनियन लि0 द्वारा 250 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 4 लाख मीट्रिक टन, उ0प्र0 राज्य कृषि एवं औद्योगिक निगम द्वारा 150 क्रय केन्द्रों के माध्यम 3 लाख मीट्रिक टन, भारतीय राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ द्वारा 50 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 1 लाख मीट्रिक टन, भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ के द्वारा 50 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 01 लाख मीट्रिक टन तथा भारतीय खाद्य निगम व प्राइवेट प्लेयर्स द्वारा 300 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 12 लाख मीट्रिक टन धान क्रय का कार्यकारी लक्ष्य है।

धान क्रय नीति के तहत खाद्य आयुक्त द्वारा आवश्यकतानुसार क्रय एजेन्सी, क्रय केन्द्रों की संख्या व क्रय केन्द्रों के लक्ष्य को घटाया तथा बढ़ाया भी जा सकता है।