Asia Cup 2020 : भारत के सामने नहीं झुका पाकिस्तान तो छिन जाएगी एशिया कप की मेजबानी?

इस ख़बर को शेयर करें:

साल 2009 में पाकिस्तान में श्रीलंकाई टीम पर हुए हमले के बाद से कोई भी टीम पाकिस्तान का दौरा करने से करतारी है. हालांकि श्रीलंकाई टीम(Sri Lanka Cricket Team) पर हुए इस आंतकी हमले के बाद श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच 10 साल बाद टेस्ट मुकाबला हुआ(Sri Lanka Tour Pakistan) था. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड(Pakistan Cricket Board) बीते कई दिनों से इस बात को कोशिशों में लगा है कि आखिर किसी तरह से वो पाकिस्तान में क्रिकेट को वापस लाए.

पाकिस्तान को इस साल एशिया कप की मेजबानी(Pakistan Will Host Asia Cup 2020) मिली है. ऐसे में उसके पास ये बड़ा मौका है. अगर वो इस आयोजन को सफल करता है को उसके लिए यह एक बड़ी कामयाबी होगी. हालांकि इसकी उम्मीद काफी कम है क्योंकि एशियन क्रिकेट परिषद(Asian Cricket Council) फरवरी महीने में एक मीटिंग करेगा और इस मीटिंग में पाकिस्तान में एशिया कप के आयोजन में आने वाली समस्याओं को लेकर कुछ फैसले किए जा सकते है.

न्यूज एंजेसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार एसीसी के एक अधिकारी ने एंजेसी से बातचीत में कहा, ‘इस साल एशिया कप की मेजबानी से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एसीसी की फरवरी में बैठक होगी. इस वर्ष पाकिस्तान मेजबान है, इसलिए यह टूर्नामेंट की मेजबानी करना चाहते हैं या नहीं, यह पाकिस्तान को तय करना है.’

दरअसल सारी समस्या यह है कि भारत ने पाकिस्तान का दौरा करने से मना कर दिया(India Will Not Tour Pakistan) है. ऐसे में यह साफ नहीं हो पाया है कि क्या भारत एशिया कप का मुकाबला खेलेगा कि नहीं. भारत अगर एशिया कप नहीं खेलता है तो इस कप का आयोजन उसके बिना होगा.

हालांकि यह पाकिस्तान को तय करना है कि भारत को एशिया कप के मुकाबले खेले या नहीं. क्योंकि भारत ने साफ किया है कि वो पाकिस्तान की धरती पर कोई मुकाबला नहीं खेलेगा. अगर पाकिस्तान किसी तटस्थ स्थल पर मैच के लिए राजी हो जाता है, तो भारत एशिया कप खेलेगा. यानि गेंद अब पाकिस्तान के पाले में है.

एशिया कप(Asia Cup 2020) से अगर भारत दूरी बमना लेता है तो उसके बिना भी मुकाबले खेले जाएंगे लेकिन ऐसी स्थिति में इसे किसी भी लिहाज से सफल आयोजन नहीं कहा जाएगा. लेकिन अगर पाकिस्तान भारत की बात मान लेता है तो एशिया कप में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला देखने को मिल सकता है.