संसद की कार्यवाही लगातार 20वें दिन रही बाधित

इस ख़बर को शेयर करें:

लोक सभा में बुधवार को लगातार 20वें दिन भी विपक्ष के हंगामे के कारण कोई कामकाज नहीं हो सका. सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद एआईएडीएमके के सांसद कावेरी नदी जल प्रबंधन बोर्ड के गठन की मांग को लेकर सदन के बीचों बीच आकर नारे लगाने लगे, जिसे देखकर लोक सभा अध्यक्ष ने सदन को पहले 12 बजे तक के लिए स्थगित किया.

दोपहर में सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने के बाद एआईएडीएम के सांसदों ने फिर से हंगामा करना शुरू कर दिया, जिस कारण लोक सभा अध्यक्ष ने विपक्षी दलों द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराने में अपनी असमर्थता जताई. लोक सभा अध्यक्ष ने सासंदों से अपनी सीट पर जाने का बार-बार आग्रह किया लेकिन सदस्यों ने उनके इस आग्रह को नहीं माना. फिर लोक सभा अध्यक्ष ने सदन को दिन भर के लिए स्थगित कर दिया.

राज्य सभा में भी विभिन्न दलों के सदस्यों ने अलग-अलग मुद्दों पर हंगामा किया, जिसकी वजह से बैठक लगातार बाधित होती रही. उच्च सदन में भी शून्यकाल और प्रश्नकाल हंगामे की भेंट चढ़ गए. राज्य सभा के सभापति वेंकैया नायडू ने सदन में सांसदों से अपील करते हुए कहा कि कल वर्तमान सत्र का आखिरी दिन होगा और कई विधेयक लंबित हैं. साथ ही सभापति ने कहा कि सांसद जिस भी मुद्दे पर चर्चा करना चाहते हैं, वे कर सकते हैं.