नर्मदा की लहरों पर देशभक्तों ने निकाली अनूठी तिरंगा यात्रा

32

हाथों में तिरंगा थामकर सैकड़ों देशभक्त तैराकों ने नर्मदा की लहरों को पार किया तो देखने वाले बस देखते ही रह गए. पिछले अनेक वर्षों से जबलपुर के उत्साही तैराक पुण्य सलिला नर्मदा की उफनाती लहरों के बीच नर्मदा हाथों में तिरंगा थामकर यात्रा निकालते आ रहे हैं.

150 से ज्यादा तैराक शामिल जिलहरीघाट से सुबह 8.30 बजे शुरू हुई तिरंगा यात्रा में 150 से अधिक तैराक शामिल हुए। जिलहरीघाट नित्य तैराकी मंडल के विवेक यादव ने बताया कि 14 अगस्त को 11 वें वर्ष अखंड भारत संकल्प यात्रा निकाली गई।

तैराक नर्मदा की अथाह जलराशि के बीच एक हाथ में तिरंगा लेकर तैराकी करते हुए जोश के साथ शामिल हुए। यात्रा जिलहरीघाट से ग्वारीघाट, खारीघाट, ललपुर गांव होते हुए यह यात्रा तिलवाराघाट पहुंचकर सम्पन्न हुई। दक्ष तैराकों की निगरानी में तिरंगा यात्रा पूरी होती है।

ये पहचान बनानी क्या होती है। हम ही दुनिया को बताएंगे।।

बिना नाम के आये थे इस दुनिया में। बिना नाम कमाये नहीं जायेंगे।।

काम कूछ ऐसा कर जाएंगे की। दुनिया के लबों पर नाम अपना कर जाएंगे।।