पीपल के पत्ता बचा सकता है कई तरीकों से आपकी जान

पीपल के पत्तों की गुणवत्ता के बारे में बहुत कम लोगों को पता होता है। जी हां पीपल का पत्ता हमारी सेहत के लिए काफी लाभकारी होता है जो 99 प्रतिशत ब्लॉकेज को खत्म करने में भी मदद करते हैं। लेकिन इन पत्तों का प्रयोग करने से पहले यह जानना जरूरी है कि आखिर इसका लाभ हमें किस तरह से मिल सकता है। आज हम आपको यही बताएंगे की आखिर पीपल के पत्तों से दवाइयां कैसे तैयार किया जा सकता है-

दवा बनाने का प्रभावि तरीका
सबस पहले दवाई बनाने के लिए पीपल के पूर्ण विकसित हरे पत्तों को एकत्र कर लें। इसके बाद पत्तों के ऊपरी और निचले हिस्से को कैंची की मदद से काट लें। पत्ते के बचे हुए भाग को पानी से धो कर बतर्न में रखकर पानी के साथ उबाल लें। उबले हुए पानी को साफ कपड़े से छान लें। अब इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। अब आपकी दवाई तैयार है। हर रोज तीन तीन घंटे बाद इस पानी को दवाई की खुराक की तरह इस्तेमाल करें। हार्ट अटैक के मरीज के लिए यह काफी लाभकारी होता है। इसके नियमित सेवन से हार्ट अटैक की संभावना नही रह जाती है।

सावधानियां
इससे हृद्य मजबूत बना रहता है।
इसके सेवन हमेशा नाशता करने के बाद ही करना चाहिए न कि खाली पेट।
इस दवाई का सेवन शुरू करने के बाद तली भुनी हुई चीजें और चावल खाना बिलकुल बंद कर दें।
मांस, मछली, अधिक मसालेदार भोजन और शराब का सेवन तुरंत बंद कर दें।
खाने में अधिक से अधिक फलों जैसे अनार, आंवला अथवा छाछ या दही का सेवन करें।