Skip to content

भोपाल: पुलिस भर्ती परीक्षा का फिजिकल टेस्ट दो जून तक स्थगित, गृहमंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:


भोपाल। मध्यप्रदेश में पुलिस भर्ती परीक्षा के फिजिकल टेस्ट को भीषण गर्मी के चलते दो जून तक स्थगित कर दिया गया है। गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट कर बताया कि पुलिस भर्ती परीक्षा के फिजिकल टेस्ट दो जून तक स्थगित कर दिए गए हैं। राज्य में इन दिनों पुलिस आरक्षक पद पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। फिजिकल परीक्षा नौ मई से शुरु हुई है, जो पांच जून तक चलनी थी। इन पदों पर होने वाली भर्ती के लिए प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (पीईबी) ने लिखित परीक्षा पहले ही ले ली थी। पीईबी परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों का अब फिजिकल टेस्ट हो रहा है।


पुलिस भर्ती के लिए दौड़े युवक की मौत,
मध्यप्रदेश पुलिस आरक्षक भर्ती के फिजिकल टेस्ट में दौड़े सिवनी जिले के एक युवक की मौत हो गई। यहां उल्लेख अनिवार्य है कि भरी गर्मी में जबकि मौसम विभाग ने घर से बाहर निकलने की मनाही की है, पुलिस डिपार्टमेंट का फिजिकल टेस्ट हो रहा है। रांझी TI के मुताबिक SAF में चल रही आरक्षक शारीरिक परीक्षा का आज तीसरा दिन है। सिवनी के खेड़ा निवासी नरेंद्र कुमार गौतम (22) की 800 मीटर की दौड़ के बाद तबीयत खराब हो गई। वह दौड़ के बाद लेट गया था। उसे सांस लेने में परेशानी हो रही थी। पहले रांझी अस्पताल और वहां से रेफर करने पर विक्टोरिया, फिर जबलपुर हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन उसकी हालत इतनी गंभीर थी कि उसे बचाया नहीं जा सका। पुलिस ने बताया कि नरेंद्र कुमार गौतम के पिता शंकरलाल गौतम पूरे समय उसके साथ थे। एक उम्मीदवार नरेंद्र कुमार ने बताया कि जबलपुर 6th बटालियन SAF मे पुलिस का physical हो रहा है जिसमे वहाँ कि टीम ने 10/05/2022 को दोपहर 01:00pm tak running करवाया। इसके कारण कई अभ्यर्थियों की तबीयत खराब हो गई। उम्मीदवारों ने अपील की है कि फिजिकल टेस्ट सुबह के समय लिया जाए।

परीक्षा केंद्र पर उम्मीदवारों के लिए सुविधाएं होनी चाहिए
जब मौसम विभाग की ओर से अलर्ट जारी किया गया तब फिजिकल टेस्ट स्थगित किए जाने चाहिए लेकिन यदि किसी भी प्रकार का खेल या फिजिकल एक्टिविटीज आवश्यक और अनिवार्य होते हैं तो ऐसी स्थिति में परीक्षा केंद्र पर उम्मीदवारों के लिए पर्याप्त सुविधाएं होनी चाहिए।

  • उम्मीदवारों को छांव में बिठाए जाना चाहिए।
  • उम्मीदवारों के लिए पर्याप्त शीतल पेयजल उपलब्ध होना चाहिए।
  • डिहाइड्रेशन से बचाने के लिए इंतजाम होने चाहिए।
  • परीक्षा केंद्र पर फर्स्ट एड बॉक्स होना चाहिए।
  • परीक्षा केंद्र पर सर्व सुविधा युक्त एंबुलेंस होनी चाहिए।
  • परीक्षा केंद्र पर डॉक्टर एवं नर्स होना चाहिए।
  • यदि किसी उम्मीदवार की तबीयत खराब होती है तो उसे अगला मौका दिया जाना चाहिए।