अंतरराष्ट्रीय वाघा बॉर्डर के बाद देश में दूसरी ऐसी जगह जहां मध्य रात्रि 12 बजकर 01 मिनट पर लहराया जाता है तिरंगा

बिहार के पूर्णिया के झंडा चौक पर शुक्रवार की रात 12 बजकर 01 मिनट पर ध्वजारोहण किया गया। सन 1947 में आजादी के बाद से ही 14 अगस्त की रात 12.01 बजे, तारीख जैसे ही 15 अगस्त होती है, यहां ध्वजारोहण किया जाता है। इस साल भी परंपरा को कायम रखा गया। रात में विधायक विजय खेमका, स्वतंत्रता सेनानी रामेश्वर सिंह के पोते विपुल सिंह, अधिवक्ता दिलीप कुमार दीपक और अनंत भारती ने झंडोत्तोलन किया।

अंतरराष्ट्रीय वाघा बॉर्डर के बाद देश में यह दूसरी ऐसी जगह है जहां मध्य रात्रि में तिरंगा लहराया जाता है। यह परंपरा आजादी के बाद से ही चल रही है। आजादी की घोषणा होने के ठीक बाद अधिवक्ता रामेश्वर प्रसाद सिंह के द्वारा सबसे पहले यहां तिरंगा लहराया गया था। आज के कार्यक्रम में अनिल चौधरी, राजीव मराठा और संजीव आदि मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य एवं देशवासियों को 74वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता संग्राम में आहूति देने वाले तमाम वीर सपूतों एवं स्वतंत्रता संग्राम के सभी सेनानियों को नमन करते हुए कहा है कि उनकी शहादत और कुर्बानियों अमर हैं। उनके संघर्ष और कुर्बानी के कारण ही हम सबों को आजादी का यह महान तोहफा मिल पाया है।

उन्होंने राज्य एवं देशवासियों से अपील की है कि आपसी भाईचारा, मेल-जोल, सद्भाव और सहिष्णुता का वातावरण बनाए रखें। देश की आजादी को अक्षुण्ण रखें। देश की आजादी को अक्षुण्ण रखने के लिए आज हमसभी संकल्प लें कि हम अपनी एकता और अखंडता को बनाये रखेंगे और देश को प्रगति, समृद्धि एवं विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचाएंगे। देश का नाम दुनिया में रोशन करते रहेंगे।

राज्यपाल फागू चौहान ने ‘स्वतंत्रता दिवस-2020’ के सुअवसर पर सभी बिहारवासियों एवं देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं व बधाई दी है। राज्यपाल ने देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्योछावर करने वाले सभी अमर शहीदों की शहादत तथा महान स्वतंत्रता-सेनानियों के अनुपम त्याग, संघर्ष और राष्ट्रभक्ति के प्रति अपना नमन निवेदित किया है। अपने शुभकामना संदेश में राज्यपाल ने कहा है कि ‘स्वतंत्रता दिवस’ पर सभी देशवासियों को राष्ट्रीय एकता, भाईचारा, सद्भावना, सामाजिक समरसता और प्रगति-प्रयासों को सुदृढ़ करने के लिए सदैव सजग, तत्पर और दृढ़संकल्पित रहना चाहिए। राज्यपाल ने विश्वास व्यक्त किया है कि राज्यवासियों के सहयोग से बिहार विकास के पथ पर सतत आगे बढ़ेगा तथा भारतवर्ष की गरिमा भी बढ़ेगी।