क्राईम पैट्रोल सीरियल देख कर जिस व्यापारी के यहाँ काम किया उसी से 1करोड़ की फिरौती मांगने की बनाई योजना, आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर। थाना  गोरखपुर अंतर्गत कपडा एंव इलेक्ट्रिक व्यवसायी सुदीप अग्रवाल निवासी आर्दश नगर को दिनाॅक 26-7-2020 की रात लगभग 8 बजे मोबाइल पर धमकी दी गयी कि मैं बलिया से राजा भैया बोल रहा हूं एक घंटे में तुमने एक करोड रूपये का इंतजाम नहीं किया तो मै तुम्हारे बेटे को गोली मारकर जान से खत्म कर दूंगा, 1 घंटे बाद मेंरे 4 आदमी तुमसे सम्पर्क करेंगे, जिनको तुम पैसे दे देना , यदि पुलिस को इस सम्बंध मे कुछ भी बताया तो तुम्हे और परिवार के सदस्यों को गोली मारकर खत्म कर देंगें। रिपोर्ट पर  अप.क्र. 430/2020 धारा 506,507,386,204,34 भादवि  का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा आरोपी की पतासाजी के सम्बंध में आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया। आदेश के परिपालन में अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण डाॅ. संजीव उइके एवं अति. पुलिस अधीक्षक अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डेल द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक गोरखपुर आलोक शर्मा के नेतृत्व मे टीम गठित की गयी। गठित टीम के द्वारा सुदीप अग्रवाल से पूछताछ करते हुये साईटिफिक इन्वेस्टीगेशन के आधार पर सायबर सेल टीम की मदद से अमरदीप राजपूत एवं अनूप सिंह को पकड़ा गया।

 ऐसे बनाई योजना

जिनसे सघन पूछताछ  की गयी जिस पर पाया गया कि संजू साकेत एवं अनूप सिंह राणा जो सतना के पृथ्वीराज कपड़ा दुकान में सेल्समैन का काम करते है, इसके पूर्व दोनों  यूटर्न में सुदीप अग्रवाल की दुकान मे 3 साल काम किये थे, अनूप सिह को 15-20 दिन पूर्व एक सिम पडी मिली थी, जिसे अनूप सिंह ने अपने पास रख ली एवं संजू साकेत के मोबाइल पर मिली सिम चेक कराई थी कि एक्टिवेट है कि नहीं तथा अपने पूर्व साथी कजरवारा निवासी अमरदीप के मांगने पर सतना से कोरियर के माध्यम से भेजी थी, कोरियर द्वारा भेजी हुई सिम को अमरदीप ने अपना गलत पता देकर फोन से प्रदीप पासी की दुकान में पार्सल को डिलेवर कराकर पार्सल प्राप्त किया था, अमरदीप एवं अनूप सिंह इसके पहले सुदीप अग्रवाल की दुकान मे एक साथ काम किये थे, अमरदीप ने सुदीप अग्रवाल को बहुत सारे रूपये गिनते हुये देखा था, अमरदीप क्राईम पैट्रोल सीरियल देखता है, योजना के मुताबिक अमरदीप ने 450 रूपये का एक नया मोबाईल खरीदा एवं पूर्व योजना के अनुसार सुदीप अग्रवाल को काॅल कर एक करोड़ रूपये की धमकी दी तथा धमकी देने के बाद स्थानीय अखबार पढने के पश्चात मोबाईल को जला दिया एवं सिम फेंक दी थी। अमरदीप वर्तमान में ओरले लैप्स में एम.आर. का काम कर रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका 
पतासाजी कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में थाना प्रभारी गोरखपुर सुश्री सारिका पाण्डेय, उप निरीक्षक बी.बी. सिंह, सउनि रमाकांत द्विवेदी, आरक्षक संतोष जाट, संदीप पाल, प्रभात मार्को एवं अनूप डेहरिया क्राइम ब्रांच के आरक्षक आनंद तिवारी एवं साईबर सेल के आरक्षक नवनीत की सराहनीय भूमिका रही।