पीएम ने किया यूपी निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश निवेशक सम्मेलन का किया उद्घाटन, कहा उत्तर प्रदेश में बुनियादी ढांचे की परियोजनाओं से 21वीं सदी में राज्य नई ऊंचाई पर पहुंचेगा। राज्य में बड़ी मात्रा में निवेश आकर्षित करने और रोजगार के अवसर पैदा करने के उद्देश्य से आयोजित सम्मेलन में देश विदेश की प्रमुख कार्पोरेट कंपनियां हो रही हैं शामिल।

रोज़गार के मौक़े पैदा करने और औद्योगिक विकास की रफ्तार तेज करने के इरादे से उत्तर प्रदेश सरकार दो दिवसीय निवेशक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इस सम्मेलन में शिरकत करने के लिए प्रधानमंत्री मोदी लखनऊ पहुंचे। उन्होने सम्मेलन में एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। साथ ही उ.प्र. की बदली हुई उद्योग नीति की इस प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

उ.प्र. में भी औद्योगिक विकास के लिए संभावनाओं को बढ़ाना और ज़्यादा से ज़्यादा निवेश आर्कषित करने के लिए इस सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने डिज़िटली बटन दबाकर सम्मेलन का भी शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले के मुकाबले स्थिति अब काफी बदल गई है और आने वाले दिनो में उत्तर प्रदेश के विकास को और गति मिलेगी

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में वैल्यू एडिशन की ज्याद जरुरत है यहां उद्यौगिक निवेश और रोजगार के क्षेत्र में नई नीतियां बनाई जा रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अब उद्यमियों के लिए रेड टेप नही रेड कॉर्पेट होगा और उद्योग बंधू सिंगल विंडो पोर्टल के जरिये तय सीमा के अंदर इजाजत मिलेगी।

प्रधानमंत्री ने उ.प्र. के बुंदेलखण्ड के विकास के लिए ख़ास तौर पर डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर्स निर्माण का प्रस्ताव रखा। इसकी बदौलत आगरा से चित्रकूट के बीच विकास की रफ़्तार बढ़ेगी। उ.प्र. के मुख्यमंत्री ने निवेशक सम्मेलन में कहा कि उ.प्र. में निवशकों का आना रोज़गार सुनिश्चित करना है। साथ ही राज्य को विकास की राह पर प्रमुख प्रदेश बनाना है। उन्होने कहा कि ये सम्मेलन राज्य के विशेष क्षेत्रों की पहचान कर उनके लिए ही आयोजित किया गया है।