कुम्भ की स्वच्छता को पूरी दुनिया में चर्चित करने वाले कर्मयोगियों का पाव पखारते देश के प्रधानसेवक

पीएम मोदी ने प्रयागराज में स्वच्छता कर्मियों का पैर धोकर किया सम्मानित किया। इतना ही नहीं पीएम मोदी ने सफाईकर्मियों के पैर भी धोए। बता दें कि ये वो लोग हैं, जिन्होंने कुंभ के आयोजन में महत्वपूर्ण योगदान किया है। इसके बाद पीएम ने अंगवस्त्र देकर उनका आभार जताया और धन्यवाद किया।

ये कर्मयोगी वो लोग हैं जो दिन रात मेहनत कर कुंभ में सुविधा मुहैया कराए हैं। इन कर्मयोगियों में नाविक भी हैं। इन कर्मयोगियों में स्थानीय निवासी भी हैं। कुंभ के कर्मयोगियों में साफ सफाई से जुड़े कर्मचारी भी शामिल हैं।इन्होंने साफ सफाई को पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बना दिया।

गौरतलब है कि कुंभ मेले के दौरान करीब 22,000 सफाईकर्मी और स्वच्छाग्रही तथा 12000 सुरक्षा कर्मियों की ड्यूटी लगी है। जिनका पीएम मोदी ने आभार प्रकट किया। बता दें कि ये वो लोग हैं, जिनकी तारीफ पीएम मोदी ने बार-बार की है. उनका कहना है कि इन्हीं सफाईकर्मियों की वजह से कुंभ मेले का आयोजन इतना सफल रहा है.

आप खुद को राम का सेवक मानते हैं, मैं खुद को आपका प्रधान सेवक मानता हूं

पीएम मोदी गंगा पंडाल में स्वच्छाग्रहियों को सम्मानित किया। इसके बाद सुरक्षा कर्मियों को सम्मानित किया। पीएम ने दो नाविकों, राजू निषाद और लल्लन निषाद को पुरस्कार दिया। संगम तट पर पूजा-अर्चना के बाद पीएम मोदी ने पांच सफाई कर्मियों के अपने हाथों से पैर धोए।