ट्रैक्टर जलाने का पीएम मोदी ने किया विरोध, कही ये बड़ी बात
इस ख़बर को शेयर करें

कृषि विधेयक: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ‘नमामि गंगे’ मिशन के तहत उत्तराखंड में मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए छह बड़ी परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम ने किसान कानून (Famer’s Act) पर जारी विरोध पर भी प्रतिक्रिया दी। पीएम ने कहा कि किसान बिल पर पीएम ने कहा कि देश के किसानों, श्रमिकों और देश के स्वास्थ्य से जुड़े बड़े सुधार किए गए हैं।

इन सुधारों से देश का श्रमिक सशक्त होगा, देश का नौजवान सशक्त होगा, देश की महिलाएं सशक्त होंगी, देश का किसान सशक्त होगा। लेकिन आज देश देख रहा है कि कैसे कुछ लोग सिर्फ विरोध के लिए विरोध कर रहे हैं। पीएम मोदी बोले कि अब गंगा जल में गंदे पानी को गिरने से रोका जा रहा है।

ये प्लांट भविष्य को देखते हुए बनाए गए, साथ ही गंगा के किनारे बसे सौ शहरों को खुले में शौच से मुक्त किया। गंगा के साथ सहायक नदियों को साफ किया जा रहा है। पीएम ने कहा कि नमामि गंगे के तहत 30 हजार करोड़ से अधिक योजनाओं का काम चल रहा है।

पीएम ने कहा कि ‘आज जब केंद्र सरकार, किसानों को उनके अधिकार दे रही है, तो भी ये लोग विरोध पर उतर आए हैं। ये लोग चाहते हैं कि देश का किसान खुले बाजार में अपनी उपज नहीं बेच पाए। जिन सामानों की, उपकरणों की किसान पूजा करता है, उन्हें आग लगाकर ये लोग अब किसानों को अपमानित कर रहे हैं।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की पहल पर जब पूरी दुनिया अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मना रही थी, तो ये भारत में ही बैठे ये लोग उसका विरोध कर रहे थे। जब सरदार पटेल की सबसे ऊंची प्रतिमा का अनावरण हो रहा था, तब भी ये लोग इसका विरोध कर रहे थे। आज तक इनका कोई बड़ा नेता स्टैच्यू ऑफ यूनिटी नहीं गया है।