पीएम मोदी आज करेंगे बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास

चित्रकूट : विकास की डगर पर सरपट दौड़ लगाने को आतुर प्रदेश के बुंदेलखंड को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज नायाब तोहफा देंगे। पीएम मोदी चित्रकूट में 297 किलोमीटर लंबे बुंदेलखण्ड एक्सप्रेस-वे का आज शिलान्यास करेंगे। इसके साथ वह किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड भी वितरित करेंगे।

आजादी के बाद भी वर्षों से विकास की राह तलाश रहे बुंदेलखंड का इंतजार लगभग आज खत्म हो जाएगा जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोपहर में चित्रकूट के भरतकूप के गोंड़ा में बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। इस अवसर पर पीएम सम्मान निधि पाने वाले किसानों को मुफ्त किसान क्रेडिट कार्ड व देश भर के दस हजार कृषि उत्पाद संगठन (एफपीओ) की लॉन्चिंग भी होगी। जिला प्रशासन ने तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है। डेढ़ घंटे में शिलान्यास व जनसभा के दौरान प्रधानमंत्री डिफेंस कॉरिडोर समेत दूसरी घोषणाएं भी कर सकते हैं। इस दौरान राज्यपाल आनंदी बेन, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, जिले के प्रभारी मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी,लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय समेत कई केंद्र व प्रदेश सरकार के मंत्री शिलान्यास समारोह के गवाह बनेंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उत्तर प्रदेश आगमन पर प्रदेश की जनता की ओर से स्वागत करता हूं। उनकी यह यात्रा दिव्यांगजनों के सेवार्थ समर्पित है। पीएम मोदी बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करेंगे और पिछड़ेपन का दंश झेल रहे बुंदेलखंड क्षेत्र में आज उन्नति का सूर्योदय होगा।

पीएम के इस कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम हैं। उनके कार्यक्रम स्थल पर 126 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इसके साथ बगैर अनुमति ड्रोन के संचालन पर भी रोक लगा दी गई है। पुलिस और पीएसी के साथ दस कंपनी पैरा मिलिट्री फोर्स लगाई गई है। मंच और आसपास की जगह की निगहबानी एसपीजी सीधे तौर पर कर रही है। पीएम मोदी इस मौके पर लोगों को संबोधित भी करेंगे।

करीब 15 हजार करोड़ आएगी लागत

296 किलोमीटर लंबे बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से चित्रकूट, बांदा, महोबा, हमीरपुर, जालौन, ओरैया और इटावा जिलों को लाभ मिलने की उम्मीद है। 14849.09 करोड़ की लागत से बनने वाला यह एक्सप्रेसवे बुंदेलखंड क्षेत्र को सड़क मार्ग के जरिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से जोड़ेगा। 296.070 किलोमीटर लंबा यह एक्सप्रेसवे अभी चार लेन का होगा। भविष्य में इसे छह लेन तक विस्तारित किए जाने की योजना है।

95 फीसदी भूमि का अधिग्रहण

एक्सप्रेसवे बनने से दिल्ली तक की दूरी कम होगी जिससे डीजल और पेट्रोल की खपत घटने से प्रदूषण भी घटेगा। इसके लिए अब तक 95 फीसदी से अधिक भूमि का अधिग्रहण भी हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन के मद्देनजर वहां हो रही तैयारियों का जायजा लेने सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद चित्रकूट गए थे। नीति आयोग ने कायाकल्प के लिए उत्तर प्रदेश के जिन 8 जिलों को चुना है, उनमें चित्रकूट भी शामिल है।

प्रदेश के अन्य जिलों से बुंदेलखंड को जोड़ेगा एक्सप्रेस-वे

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चित्रकूट के भरतकूप से इटावा होकर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर कुदरैल के पास मिलेगा। इससे बुंदेलखंड का जुड़ाव यमुना एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से होगा। दूसरे जिलों तक पहुंच आसान होगी। भविष्य में गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे, प्रयागराज एक्सप्रेस-वे के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से जुडऩे पर पूरे प्रदेश में एक्सप्रेस-वे फर्राटेदार और सुगम सफर का साधन बनेंगे।

पांच घंटे में दिल्ली

अभी तक दस से 12 घंटे में दिल्ली पहुंचने वाले बुंदेलखंड के लोग एक्सप्रेस-वे से महज पांच घंटे में जा सकेंगे। चित्रकूट से प्रयागराज की दूरी 110 किलोमीटर होने के कारण लोग कानपुर के रास्ते दिल्ली जाने के बजाय यहीं से गुजरेंगे। अभी तक बुंदेलखंड से कटे जालौन, औरैया व इटावा की पहुंच आसान बनेगी। कालपी रोड के बजाय एक्सप्रेस-वे से लखनऊ, प्रयागराज पहुंच सकेंगे।