पीएम: नए भारत की शपथ लेने के लिए शुक्रिया

इस ख़बर को शेयर करें:

#IamNewIndia यानी मै हूं नया भारत। प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से आह्वान किया कि बदलते परिवेश में नए भारत के निर्माण के लिए सभी अपने अपने स्तर पर योगदान दें। नरेन्द्र मोदी एप पर आप 9 अलग अलग क्षेत्रों में शपथ ले देश के विकास के लिए एक कदम आगे बढ़ा सकते हैं। इन 9 श्रेणियों में पहली शपथ काले धन के खिलाफ है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर बड़ी संख्या में लोगों ने देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए ये शपथ ली है। लोगों के इस समर्थन के लिए प्रधानमंत्री ने जनता को शुक्रिया अदा किया है।

बदलते भारत की नई तस्वीर के तहत प्रधानमंत्री मोदी ने देश में बदलते मिजाज के मद्देनजर हर आमोखास को विकास की मुख्यधारा में आगे आकर योगदान का आह्वान किया। होली की पूर्व संध्या पर मोदी ने जिन 9 क्षेत्रों में लोगों को #IamNewIndia के तहत आगे आ कर शपथ लेने का आह्वान किया उसमें सबसे पहला कदम काले धन के खिलाफ है।

शपथ में कहा गया है – मैं भष्ट्राचारमुक्त भारत के साथ खड़ा हूं….

मैं देश से भ्रष्टाचार और काले धन को पूरी तरीके से हटाने के साथ खड़ा हूं जिसने भारत के विकास को धीमा कर दिया है। मैं भ्रष्टाचार को न तो बढ़ावा दूंगा और न ही सहूंगा। मैं नए भारत का हिस्सा हूं जो 125 करोड़ भारतीयों की शक्ति से अपनी ताक़त लेता है। आइए साथ में मिलकर 2022 तक ,जब हम आजादी के 75 साल पूरे कर रहे हैं, एक सशक्त, समृद्ध और समावेशी भारत का निर्माण करें।

सरकार ने काले धन के खिलाफ कड़े कदम उठते हुए पहले ही कैबिनेट में काले धन के खिलाफ एसआईटी का गठन किया और सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में काले धन के खिलाफ इस समिति की सिफारिशों के आधार पर कई कदम उठाए। विदेशों में जमा काले धन के लिए कानून बना कर विदेशों से काले धन को वापिस लाने की मुहिम शुरु की। कई देशों के लाथ टैक्स संधियों में संशोधन किए गए।

घरेलू काले धन के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए नया कानून बनाया और काले धन का खुलासा करने के लिए एक नयी योजना की शुरुआत की। नवंबर 2016 में 500 और 1000 रूपए के नोट को सर्कुलेशन से बाहर करने के पीछे भी भ्रष्टाचार पर प्रहार करना एक प्रमुख वजह रही। अब गरीब कल्याण कल्याण के तहत भी काले धन को जमा कर टैक्स और पेनाल्टी अदा की जा सकती है।

केन्द्र में एनडीए सरकार के अब तक के करीब 3 सालों के शासनकाल में अब तक भ्रष्टाचार का एक भी मामला सामने नहीं आया है। सरकार काले धन और करप्शन के खिलाफ शुरु से ही सख्त नज़र आ रही है और आम जनता में भी ये संदेश साफ गया है। आगे आने वाले दिनों में भी आयकर विभाग टैक्स की चोरी कर रही कंपनियों के खिलाफ बड़ी जंग छेड़ने जा रहा है। दूसरों के नाम संपत्ति खरीदने बेचने वालों के खिलाफ सख्त कानून बनाने जा चुके हैं और माना जा रहा है कि बेनामी संपत्ति पर सरकार जल्दी ही सख्त कदम उठाने जा रही है।

कुल मिलाकर काले धन और भ्र्ष्टाचार के खिलाफ सरकार के सख्त कदम जारी हैं और शायद इसीलिए पीएम मोदी ने अपने नए कैंपेन #IamNewIndia के तहत काले धन के खिलाफ जंग को सबसे पहले पायदान पर रखा है।