मीटर रीडिंग के बहाने वृद्धा के गले से सोने की चेन छीनने वाले दोनों लुटेरे को पुलिस ने दबोचा

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर। थाना विजय नगर में दिनाॅक 30-10-2020 को दोपहर 2-45 बजे श्रीमति वीणा खंडेलवाल उम्र 70 वर्ष निवासी भूलन माता मंदिर के पास ने रिपोर्ट दर्ज करायी थी कि दिनाॅक 29-10-2020 को सुबह उसका बेटा आफिस एवं पति अपनी किराना दुकान चले गये थे घर पर वह एवं काम वाली बाई थी।

दोपहर में आंगन का गेट खुला था दोपहर लगभग 2-30 बजे एक सफेद रंग की एक्टीवा मे दो लडके जो मुंह मे कपड़ा बांधे हुये थे आये, एक लडका पास आकर कहने लगा मीटर रीडिंग लेने आये है जिससे कहा कि मीटर की रीडिंग हो गयी है तुम कैसे चैक करने आये हो, तभी उस लडके ने उसके गले मे पहनी सोने की चेन खींची, चेन टूटकर आधी गले में रह गयी तथा आधा चेन वजनी लगभग आधा तोले की खींच कर दोनेां एक्टीवा से भाग गये। रिपोर्ट पर धारा 392 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा घटित हुई घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपियों की तलाश पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण / अपराध गोपाल प्रसाद खाण्डेल एवं नगर पुलिस अधीक्षक गढा रोहित काशवानी (भा.पु.से.) द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये थाना प्रभारी विजय नगर परिवीक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक सचिन कुमार धुर्वे के नेतृत्व में थाना विजय एवं एवं क्राईम ब्रांच की टीम गठित कर लगायी गयी।

दौरान विवेचना के संदेही अभिषेक जैन पिता उत्तम चंद जैन उम्र 32 वर्ष निवासी बीटी तिराहा, न्यू एैरा स्कूल के सामने गढा एवं नितिन सेन पिता संतोष सेन उम्र 29 वर्ष निवासी गौतम जी की मढिया के सामने थाना संजीवनी नगर को पकड़ा गया एवं सघन पूछताछ की गयी तो दिनाॅक 29-10-2020 को दोपहर में भूलनमाता मदिर के पास एक वृद्ध महिला से बातचीत करते हुये गले मंे पहनी हुई चेन का आधा हिस्सा छीनना स्वीकार करते हुये क्रिकेट के आई.पी.एल. मैच के सट्टे में रूपये हार जाना तथा रूपयों की व्यवस्था हेतु घटना कारित करना बताये, छीनी हुई चेन का टूटा हुआ आधा हिस्सा एवं घटना में प्रयुक्त एक्टीवा बरामद करते हुये दोनों आरोपियों को प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

उल्लेखनीय भूमिका– पतासाजी कर आरोपियो की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी विजय नगर परिवीक्षाधीन उप पुलिस अधीक्षक सचिन कुमार धर्वे, उप निरीक्षक अभिषेक कैथवास, प्रधान आरक्षक वेद प्रकाश, देवराज एवं क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक आर.पी. बर्मन, आरक्षक राधेश्याम दुबे, ओम नारायण, महेन्द्र पटेल, आनंद तिवारी की सराहनीय भूमिका रही।