अगर चलती गाड़ी से पुलिस ‘चाबी’ निकाले तो क्या कर सकते हैं आप?

ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ट्रैफिक पुलिस लोगों का चालान काटती है। ऐसे में जब से नया मोटर व्हीकल एक्ट देश भर में लागू हुआ है, तब से लोगों में ट्रैफिक नियमों को लेकर ज्यादा गंभीरता आ गई है। पहले के मुकाबले लोग ट्रैफिक नियमों को तोड़ने में डर रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण ट्रैफिक चालान की राशि में आई भारी बढ़ोतरी है। हालांकि, इस डर का कई जगहों पर गलत फायदा उठाया जा रहा है। ऐसे में कई लोगों की शिकायत है कि जब से नया ट्रैफिक नियम लागू हुआ है तब से एक जूनियर पुलिसवाले से लेकर एक हवलदार तक लोगों को रोकते दिखाई दे रहे हैं।

लोगों की यह भी शिकायत है कि कई बार पुलिसकर्मी या फिर खुद ट्रैफिक पुलिसकर्मी उनके साथ ज्यादा सख्ती से पेश आते हैं। ऐसे में कई बार पुलिकर्मियों की तरफ से चलती गाड़ी से चाबी निकाल दी जाती है या फिर सड़क पर रोक कर धमकाया जाता है। अगर आपके साथ भी ऐसा हुआ है, तो अब आपको डरने की जरुरत नहीं है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि क्या चलती गाड़ी से चाबी निकाला जा सकता है या नहीं? इसके अलावा अगर आपके साथ भी ऐसा होता है, तो आपको क्या करना चाहिए? डालते हैं एक नजर,

पुलिस क्या नहीं कर सकती?

  • चलती गाड़ी का चाबी नहीं निकाल सकती।
  • गाड़ी को रोकने के लिए चलते वाहन से चालक का हाथ नहीं पकड़ सकती।
  • चार पहिया गाड़ी के सामने अचानक से बैरीकेड्स नहीं लगा सकती।

आप क्या कर सकते हैं?
पिछले स्लाइड में दी गई बातों में से अगर एक भी चीज आपके साथ होती है, तो आपको सहने की जरुरत नहीं है। आपके साथ हुए बर्ताव की आप शिकायत कर सकते हैं। आप इसकी शिकायत सीनियर ऑफिसर से कर सकते हैं। इसके अलावा आप इसकी लिखित शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं, जिसके बाद संबंधित पुलिस या ट्रैफिक पुलिसकर्मी पर कार्रवाई हो सकती है।

चालान काटने का नहीं है इन्हें अधिकार
किसी भी चेकिंग प्वाइंट पर अगर आपको सब इंस्पेक्टर स्तर से नीचे का कर्मी चालान काटते दिखे, तो इसकी शिकायत तुरंत करें। दरअसल सब इंस्पेक्टर स्तर के नीचे आने वाले किसी भी सुरक्षाकर्मी को चालान काटने का अधिकार नहीं है।

कौन काट सकता है चालान?
किसी भी व्यक्ति का चालान काटने का अधिकार ट्रैफिक पुलिस के अलावा केवल सब इंस्पेक्टर या फिर इससे ऊपर के अधिकारी के पास होता है।

नियमों का पालन करें और डरे नहीं
अगर आप ट्रैफिक नियमों का पालन कर रहे हैं, तो आपको किसी से भी डरने की जरुरत नहीं है। अगर आपके साथ किसी भी पुलिसकर्मी की तरफ से गलत बर्ताव किया जा रहा है, तो आपको वहां चालान भरने की जरुरत नहीं है। चालान और अपने साथ हुए बर्ताव के खिलाफ आप कोर्ट में जा सकते हैं। यहां बता दें कि ट्रैफिक चालान को लेकर चलने वाली कोर्ट में मामले का निपटारा एक दिन में ही हो जाता है। ऐसे में आपको न तो डरने की जरुरत और न ही सहने की।