324 के वारंटी को पकड़ने गई पुलिस पर परिजनों ने लगाए मां,बेटी को पीटने के आरोप

इस ख़बर को शेयर करें:

जबलपुर @ पुलिस वारंटी की तलाश में सिंधी कैम्प पकड़ने गई थी, वहां मां.बेटी के साथ मारपीट का मामला जो की शर्मसार कर देने का पूरा कृत्य परिवार के लोगों ने वीडियो में रिकॉर्ड कर वायरल कर दिया। परिवार के सबूत के साथ मामले की लिखित शिकायत दी। परिजनों का आरोप है कि आरोपी की बहन 12वीं में पढ़ती है। वारदात के समय वह पेपर दे रही थी। तभी पुलिस उसे खींच कर थाने ले जाने का प्रयास की। ASP अमित कुमार ने इस पूरे मामले में जांच के निर्देश दिए हैं। हनुमानताल पुलिस का कहना है कि परिजनों ने महिला आरक्षक के साथ बदसलूकी कर खुद को ही डंडे से मार रही थी। पुलिस ने सिर्फ डंडा छीनने का प्रयास किया।
पुलिस 324 के वारंटी को सिंधी कैम्प पकड़ने गई थी|

हनुमानताल थाने में कुल सात आपराधिक प्रकरण जो सिंधी कैम्प निवासी सुनील अन्ना के खिलाफ दर्ज हैं। 2000 में उस पर हत्या के प्रयास का भी प्रकरण दर्ज है। 324 के मामले में वह फरार चल रहा है। उसकी गिरफ्तारी व वारंट के चलते तीन दिन पहले पुलिस ने खबर दी लेकिन वह हाजिर नहीं हुआ। शुक्रवार को थाने के वरिष्ठ आरक्षक केके सिंह महिला आरक्षक दीक्षा व तीन अन्य आरोपी के घर पहुंचे। वहां आरोपी तो नहीं मिला। उसकी बहन और मां मौजूद थी। 366 के प्रकरण में आरोपी सुनील अन्ना की बहन का कहना है,पुलिस उसे ले जाने लगी तो उसकी मां अड़ गई।

इसके बाद पुलिस ने मारपीट की इस पर परिवार की रत्ना बाई अन्ना और आरोपी के चचेरे भाई धमेंद्र सतनामी ने आरोप लगाए है कि थाने ले जाने का विरोध करने पर पुलिस वालों ने घसीट कर मारपीट की। पुलिस कर्मियों के इस तरह की अमानवीयता को घरवालों ने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया।

अमित कुमार ने बताया कि युवती ने लिखित आवेदन दिया है। घटना के संबंध में एक वीडियो भी उपलब्ध कराया है। जांच के आधार पर कार्रवाई होगी।पुलिस का दावा है की परिवार के लोगों ने कि बदसलूकी| इस पूरे मामले में गोहलपुर अखिलेश गौर ने कहा कि परिवार के लोग आधा सच बोल रहे हैं। पुलिस वारंटी की तलाश में गई थी। युवती का 366 के प्रकरण में कथन लंबित है। तीन दिन पहले उसे सूचना दी गई थी। बावजूद वह नहीं आई। पुलिस के पहुंचते ही मां.बेटी उग्र हो गईं। आरोपी की मां ने लकड़ी के बत्ते से महिला आरक्षक दीक्षा पर वार कर दिया। इसके बाद खुद को मारने लगी। जमीन पर लेट कर सिर पटकने लगी। पुलिस उसके हाथ से डंडा छीन रही थी। इस पर आरोपी की मां का शांति भंग में 151 की कार्रवाई की गई है।