सूबे में उन्माद फैलाने की हो रही राजनीति : पप्पू

इस ख़बर को शेयर करें:

पटना @ जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय सरंक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि अररिया में गलत तरीके से एक वीडियो वायरल कर उन्माद फैलाने की राजनीति चल रही है, जापलो उसकी कड़ी निंदा और पुरजोर विरोध करती है। श्री यादव ने आज अपने पटना आवास पर संवाददाताओं से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस धार्मिक और जातीय उन्माद के इस खेल में सत्ता पक्ष और विपक्ष का बराबर का हाथ है।

सांसद ने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के न्यायाधीश से कराने की मांग की और कहा कि बगैर वीडियो के जांच किये अगर कोई अधिकारी इस वीडियो को सही कहता है तो उस पर कार्रवाई की जाये। साथ ही इस मामले में गलत तरीके से जेल में बंद किये गए युवकों की अविलंब रिहाई हो।

श्री यादव ने दारोगा घोटाले और एसएससी परीक्षा में धांधली के मामले को उठाते हुए कहा कि एक ओर दारोगा अभ्यर्थियों की रोज पिटाई हो रही है, दूसरी ओर सरकार मस्त है, विपक्ष पस्त है। विधानसभा में बाप-बेटे और परिवार की बातें तो खूब हो रही है, मगर न तो दारोगा की पिटाई के मामले की बात और न ही मकई के भुट्टे से गायब दाने की बात को किसी ने सदन में उठाना जरूरी समझा।

इसलिए हम दारोगा की पिटाई और एसएससी पेपर लीक मामले को लेकर सोमवार को राजभवन मार्च करेंगे। मंगलवार को हाईकोर्ट जायेंगे और जरूरत पड़ी तो बिहार भी बंद करेंगे। श्री यादव ने बिहार में युवाओं को लेकर र्थड फ्रंट बनाने की भी घोषणा की, जिसमें 23 साल से लेकर 45 साल तक उम्र के युवाओं को मौका मिलेगा। पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में बिहार प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष व प्रकोष्ठ अध्यक्ष को छोड़ कर राज्य कार्यकारिणी और जिला कमेटी को पूरी तरह भंग कर दिया गया है।

सांसद ने कहा कि हम दो सप्ताह के अंदर र्थड फ्रंट के लिए उम्मीदवारों का चयन सोशल मीडिया के जरिये कर अभी से साल 2019, 2020 और 2025 की तैयारी शुरू करेंगे। इसके लिए उम्मीदवार अपना बायोडेटा फेसबुक, वाट्सअप और ईमेल पर अप्लीकेशन कर सकते हैं। संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुपति प्रसाद सिंह के अलावा एजाज अहमद, राघवेंद्र कुशवाहा, प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, मंजय लाल राय, अकबर अली परवेज, आनंद मधुकर, चक्रपाणि हिमांशु, गौतम आनंद उपस्थित थे।