गरीब कोरोना मरीजों को आयुष्मान योजना के तहत मिलेगा निजी अस्पतालों में उपचार

जबलपुर। शहर के निजी अस्पतालों में कोरोना का उपचार कराने पहुंचे ऐसे गरीब मरीजों के आयुष्मान कार्ड अब तत्काल बनाये जाएंगे जिनके पूर्व में ये कार्ड नहीं बने हैं। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक अस्पताल में एक शासकीय कर्मचारी को तैनात किया गया है। निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्ड बनाने की इस व्यवस्था का मुख्य उद्देश्य कोरोना के गरीब मरीजों को निजी अस्पतालों में शासकीय खर्च पर कोरोना का उपचार मुहैय्या कराना है।

ज्ञात हो कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में निजी अस्पताल संचालकों से कोरोना मरीजों के उपचार के लिए आरक्षित बिस्तरों में से 20 बिस्तर आयुष्मान कार्डधारी कोरोना के लिए उपलब्ध कराने का आग्रह किया था।

श्री सारंग ने कलेक्टर कर्मवीर शर्मा को कोरोना के ऐसे मरीजों में आयुष्मान कार्ड बनाने की व्यवस्था करने के निर्देश भी बैठक में दिये थे जिनके पूर्व में आयुष्मान कार्ड नहीं बने हैं। उन्होंने इसके लिए हर जिला अस्पताल में एक-एक कर्मचारी को नियुक्त करने कहा था।

कलेक्टर श्री शर्मा ने मंत्री श्री सारंग के निर्देश पर शाम को ही एक आदेश जारी कर आयुष्मान कार्ड बनाने और मरीजों की समस्याओं के निराकरण के लिए प्रत्येक निजी अस्पताल पर एक-एक कर्मचारी की तैनाती के आदेश जारी कर दिये हैं।