UP: प्रतापगढ़ जिले में जोरों पर हो रही है पशु तस्करी, स्कार्पिओ में थे जानवर

प्रतापगढ़ जिले के लालगंज कोतवाली का जहां पर बीती रात पशु तस्करों ने एक स्कार्पिओ में दो भैंस व एक बकरी को लादकर प्रतापगढ़ से लालगंज की तरफ ले जा रहे थे लेकिन जैसे ही वह लीलापुर| चौकी से महज कुछ दूर ही गए होंगे कि स्कार्पिओ का पिछला टायर फट जाने के कारण उन्हें गाड़ी खड़ी करनी पड़ी , टायर फटने की आवाज सुन कर आस पास के लोग सहित स्थानीय चौकी प्रभारी एस एम कासिम अपने दल बल के साथ मौके पहुंचे और गाड़ी को ले आने के लिए आदेशित करते हुए चले आए ।

Subscribe My channel ► Khabar Junction

चौकी प्रभारी ने बताया कि गाड़ी को चौकी लाने पर हमे शक हुआ जिसके आधार पर हमने अपने हमराहियों को गाड़ी चेक करने की जैसे ही बात की चोर गाड़ी छोड़ कर भाग निकले , गाड़ी चेक करने पर गाड़ी के अन्दर दो भैंस व अक बकरी बंधी पायी गयी साथ ही गाड़ी मे नशीली दवाइयां व स्प्रे के साथ ही एक चाकू व मोबाइल बिना सिम के पाया गया |

लेकिन वहीं पर स्थानीय लोगों का कहना है ‘ पुलिस ने चोरों से मिलकर और उनसे धन उगाही कर मामले को रफा-दफा कर उसे भगा दिया , जिसको लेकर ग्रामीणों सहित आसपास के क्षेत्रों में पुलिस के इस रवइये को देखकर आक्रोश व्याप्त है ।

हम आपको बता दें कि कोतवाली क्षेत्र के लीलापुर चौकी क्षेत्र मे यह कोई नया मामला नही है इसके पूर्व भी चौकी ये महज १०० मी़ के परिधि मे कई पशु तश्करी व चोरी जैसी वारदातें हो चुकी हैं जिसका खुलासा अभी तक नही कर सकी है इलाकाई पुलिस।

हम आपको बता दें कि बीते एक माह में यह भैंस चोरी और पशु तस्करी का क्षेत्र में पांचवा मामला है जहां पर चौकी से महज से ५० से १०० मीटर की दूरी पर ही बेखौफ बदमाश ऐसी बड़ी वारदातों को करने में कामयाब हो रहे हैं और पुलिस मूकदर्शक मूक दर्शक बनकर यह सब तमाशा देख रही है अब देखना यह है कि जिले में जिले के लालगंज कोतवाली क्षेत्र में बढ़ते अपराधिक ग्राहकों पुलिस कब कम कर पाती है और क्षेत्र में हो रही लगातार चोरियां पर अंकुश लगाने के साथ ही इन का खुलासा कब कर पाती है ।