प्रयागराज तपस्या और संस्कार की धरती, यहां आने से ऊर्जा मिलती है : पीएम मोदी

प्रयागराज। प्रयागराज नामकरण के बाद पहली बार आ रहे पीएम मोदी कुंभ से जुड़े कार्यों का जायजा एवं लोकार्पण करने यहां आए। पीएम मोदी ने प्रयागराज में संगम तट पर वैदिक मंत्रोच्चार के बीच विश्व कल्याण, देश में शांति और निर्विघ्न कुम्भ के लिए पूजा की।

कुंभ 2019 का उद्घघाटन करने के बाद पीएम मोदी ने प्रयागराज में जनसंभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि यहां आने से उन्हें ऊर्जा मिलती है। उन्होंने कहा कि प्रयागराज के विकास के लिए परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया है। इससे प्रयागराज आने के लिए कनेक्टिविटी बढ़ेगी। यहां की सड़कों की स्थिति में सुधार हुआ है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि प्रयागराज तप, तपस्या और संस्कार की धरती है। साथ अब श्रद्धालु अर्धकुंभ में अक्षय वट के दर्शन भी कर सकेंगे। कुंभ मेला नियंत्रण कक्ष के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने गंगा पूजन किया। यहां उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पांडेय भी मौजूद रहे।

पीएम मोदी पूरे कुंभ क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने संगम क्षेत्र का भ्रमण भी किया। इस बार सभी श्रद्धालु अक्षयवट के दर्शन कर सकेंगे, कई पीढ़ियों से ये अक्षयवट किले में बंद था। इस बार यहां आने वाला हर श्रद्धालु स्नान करने के बाद अक्षयवट के दर्शन का सौभाग्य भी प्राप्त कर सकेगा: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्यपाल के साथ कुंभ मेला के लिए बनाए गए कमांड और कंट्रोल सिस्टम का उद्धाटन किया। साथ ही उन्होंने इस ऑफिस का निरीक्षण भी किया। यहां से 2019 में आयोजित होने वाले कुंभ मेला के चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जाएगी।

रायबरेली दौरे के बाद प्रयागराज पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का स्वागत किया। यहां पीएम मोदी ने कुंभ से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा की। ज्ञात हो कि अगले साल जनवरी में प्रयाग में अर्धकुंभ का आयोजन होने जा रहा है।

प्रयागराज के संगम में गंगा पूजन और कुंभ की कुशलता के लिए कामना करके लौटते समय प्रधानमंत्री को सपाइयों ने काला झंडा दिखाया बैरिकेडिंग को पारकर एक युवक अचानक गाड़ी के सामने आ गया उसने काला झंडा लहरा दिया पुलिस वालों ने उसे दबोच कर पीछे फेंका।