प्रयागराज महाकुंभ 2019 का ऐसा दृश्य पहले कभी न देखा होगा : वीडियो देखें

इस ख़बर को शेयर करें:

ईये हम आपको दिखाते है प्रयागराज महाकुंभ 2019 का दृश्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की देन भारतवर्ष में पहली बार इस तरह का दृश्य देखने को मिलेगा कुंभ वासियों को इस देश को देखने के बाद और पूरा प्रयागराज देखने के बाद यह लगता है कि वाकई कुंभ नगरी प्रयागराज प्रयागराज ही है सब तीर्थों का राजा प्रयागराज. उत्तर प्रदेश प्रयागराज संगम तट पर यहां संगम तट पर संध्या की बेला पर श्रद्धालु मां गंगा के तट पर कहा जाए तो तीन नदियों का संगम गंगा जमुना सरस्वती जिसको संगम कहा जाता है.

शास्त्रों के अनुसार यह भी मान्यता है कि कि जब देव और दानवों ने समुद्र मंथन किया था तब उस समुद्र मंथन से 14 रत्न की प्राप्ति हुई थी उसमें सभी रत्न विश्वकल्याण में उपयोग हुए उन्हीं 14 रत्नों में एक रत्न अमृत रत्न था उसी अमृत रत्न का कुछ अंश प्रयागराज के संगम क्षेत्र में स्थित है और वनवास के समय भगवान राम यहां पर आए थे यहां पर हर वर्ष से कुंभ लगता है कुंभ के मेले के नाम से कहा जाता है और अर्ध कुंभ महाकुंभ जो बड़े ही उत्साह से श्रद्धालु मानते हैं और मनाते हैं यहां पर पूरे भारत वर्ष से लाखों की संख्या में लोग आते हैं और संगम में स्नान कर दान पुण्य करके अपने आप कृतज्ञ करते हैं .

2019 महाकुंभ की तैयारी हो रही है 15 जनवरी से महाकुंभ की शुरुआत होगी प्रथम स्थान होगा 3500 हेक्टेयर मैं बसा कुंभ क्षेत्र इस वर्ष क्रेन सरकार और प्रदेश सरकार के प्रयास से कुंभ मेला क्षेत्र को हर तरीके की सुविधाओं से परिपूर्ण बनाया जा रहा है यहां तक की 2019 के महाकुंभ में देश विदेश को भी आमंत्रित किया गया है, और प्रशासन के अनुमान के अनुसार 2019 के महाकुंभ में प्रतिदिन 20 से 25 लाख श्रद्धालुओं की आने की अनुमान है महाकुंभ में हेलीपैड और हेलीपोर्ट भी बनाया गया है. कुंभ क्षेत्र से 15 किलोमीटर की दूरी पर बड़े-बड़े बस अड्डे बनाए गए हैं और कुंभ क्षेत्र को संस्कृति ढंग से इस तरीके सजाया जा रहा है कि यहां पर आने वाले हर एक श्रद्धालु संगम में स्नान करने के बाद अपने को कृतज्ञ करते ही हैं पर इस बार संस्कृत दृश्य को देखकर उनके तन मन में संस्कृत और परंपरा का भी प्रभाव जागरूक होगा.

खास बात तो यह है की जो यहां संस्कृत दृश्य बनाए जा रहे हैं उन कलाकृतियों को बनाने के लिए विदेशों से पेंटर आए हुए हैं और इतना सुंदर दृश्य बनाया जा रहा है कि देखते ही मन मंत्र मुग्ध होजाता है प्रशासन की तरफ से बताया जा रहा है कि मेला क्षेत्र में पानी आपूर्ति विभाग विद्युत विभाग जलकल विभाग विभाग खाद्य विभाग चिकित्सा विभाग पुलिस प्रशासन सूचना विभाग सुरक्षा विभाग और अन्य सभी विभागों की सुविधा पूरी पूरी उपलब्ध रहेगी प्रशासन का कहना है कि 2019 के महाकुंभ में काफी संख्या में श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है इसलिए किसी भी प्रकार की कोई कमी ना रहे हमारा पूरा प्रयास रहेगा मेला क्षेत्र में शांति बनी रहे.

मेला प्रशासन अधिकारी का कहना है कि कुंभ मेला क्षेत्र को परंपरागत और संस्कृत तरीके से सजाया जा रहा है सारी सुविधाओं से संपन्न है कि श्रद्धालुओं किसी प्रकार की कोई तकलीफ ना हो सुरक्षा एजेंसियां चारों तरफ से माघ मेला क्षेत्र में आने वाले लोगों पर नजर रखेंगे सीसी कैमरे ड्रोन कैमरे से हर एक शख्स पर निगरानी रखी जाएगी हमारी रिपोर्ट के अनुसार यहां पर बॉलीवुड के सितारे भी कल्पवास के दौरान कल्पवास करते हैं उन्हीं में से एक सितारे राजपाल यादव से एक छोटी मुलाकात राजपाल यादव ने बताया कि 2002 से इस माघ मेला क्षेत्र में आते हैं और हर वर्ष से बहुत ज्यादा खूबसूरत है इस वर्ष महाकुंभ को सुंदर और संपन्न बनाया जा रहा है.

उन्होंने खबर जंक्शन चैनल के रिपोर्टर से बात करते हुए बताया कि उन्हें उस तरीके का आनंद शांति तन मन की शुद्धि प्रयागराज की धरती पर मिलती है जिससे वो अपने आप को धन्य मानते हैं और उन्होंने जनता से अपील की महाकुंभ में आए और इस महाकुंभ मैं स्नान दान पुण्य करके अपने इस जीवन को सफल बनाएं संगम तट पर लेटे हुए हनुमान जी की बड़ा महत्व है दर वर्ष मां गंगा अपने जल से हनुमान जी का अभिषेक करती है.

यहां पर लेटे हनुमान जी के दर्शन के लिए देश विदेश से लोगों का प्रतिदिन ताता लगा रहता है श्रद्धालु यहां पर आकर अपने आप को कृतज्ञ करते हैं यहीं पर प्राचीन किला भी है जिसकी अंदर अक्षयवट मंदिर है और बहुत सारे प्राचीन मंदिर मौजूद हैं. ( रिपोर्ट – रूपेंद्र प्रताप सिंह, अनुज कुमार सिंह  खबर जंक्शन प्रयागराज )