कोविड-19 के टीकाकरण की तैयारियों के सम्बन्ध में जिला टास्क फोर्स की बैठक सम्पन्न

इस ख़बर को शेयर करें:

प्रतापगढ़ ( जीतेन्द्र तिवारी )। जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में कल सायंकाल कैम्प कार्यालय में कोविड-19 के टीकाकरण की तैयारियों के परिप्रेक्ष्य में जिला टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गयी जिसमें मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अरविन्द कुमार श्रीवास्तव, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे। बैठक में बताया गया कि टीकाकरण के बाद प्रतिकूल घटनाओं का प्रबन्धन करने के लिये ए0ई0एफ0आई0 कमेटी बनायी गयी जिसकी बैठक दिनांक 21 दिसम्बर 2020 को प्रस्तावित है।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया यह वैक्सीन नई है जिसके लिये प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर चिकित्साधिकारी ए0ई0एफ0आई0 मैनेजमेन्ट के लिये उपस्थित रहेगें एवं सत्र पर ए0ई0एफ0आई0 किट एवं एनाफाइलेक्सिस किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहेगी।

ब्लाक स्तर का प्रशिक्षण दिनांक 22 दिसम्बर को आयोजित किया गया है जिसमें जिला स्तर से टीम जायेगी एवं जिला स्तरीय टीम प्रशिक्षण की गुणवत्ता, कोल्डचेन प्वाइंट का निरीक्षण एवं ब्लाकों में निरीक्षण कर कोविड-19 टीकाकरण हेतु सत्र स्थल के लिये स्थान का चयन करेगी।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी द्वारा कोल्डचेन एवं लॉजिस्टिक मैनेजमेन्ट के बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि जनपद का वैक्सीन भण्डारण (डी0वी0एस0) कोविड-19 वैक्सीन हेतु पूर्ण रूप से तैयार कर लिया गया है एवं सभी ब्लाक के कोल्डचेन प्वाइंट को एक अलग से कक्ष, विद्युत की व्यवस्था हेतु निर्देशित कर दिया गया है।

कोविड-19 टीकाकरण हेतु राज्य से 3 आई0एल0आर0, 23 कोल्ड बॉक्स प्राप्त हुये है एवं 06 लाख ए0डी0 सिरीज जनपद को आंवटित हो गया है जिसे मण्डल से निर्देश प्राप्त होते ही प्राप्त कर लिया जायेगा। बैठक में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी द्वारा बताया गया कि प्रत्येक सत्र स्थल पर टीकाकरण हेतु 05 सदस्य होगें जिसमें 01 सुरक्षागार्ड, 01 रिकार्ड की जांच करने वाले, 01 टीकाकरण हेतु, 01 मोबिलाइजर एवं 01 निगरानीकर्ता जो टीकाकरण के बाद 30 मिनट तक निगरानी कक्ष में रहकर ए0ई0एफ0आई0 का प्रबन्धन में सहयोग प्रदान करेगा।

जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि रिकार्ड जांच करने हेतु लगे व्यक्ति का चयन एवं उचित प्रशिक्षण होना चाहिये क्योंकि वेरिफिकेशन कोविड-19 पोर्टल के माध्यम से किया जायेगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी द्वारा टीकाकरण हेतु वैक्सीन को ब्लाकों पर पहुॅचाने के लिये सुरक्षा गार्ड के साथ वैक्सीन वैन का उपयोग किया जायेगा।