महात्मा गांधी के जीवन एवं कार्यों पर राजघाट को डिजिटल बनाने की तैयारी

3 डिजिटल स्‍क्रीन लगाई जाएंगी, व्‍याख्‍या केंद्र एवं फोटो स्‍थल बनाए जाएंगे सार्वभौमिक पहुंच, मार्ग को चौड़ा करने और बाड़ लगाने के लिए 3 करोड़ रुपये के कार्यों को मंजूरी

राष्‍ट्रीय राजधानी में राजघाट स्‍थित गांधी समाधि पर बड़ी संख्‍या में आने वाले लोगों को बेहतर अनुभव सुनिश्‍चित करने के लिए लगभग 3 करोड़ रुपये की लागत वाले अनेक कार्यों को आज मंजूरी दी गई। मंजूर किए गए कार्यों में तीन डिजिटल स्‍क्रीन लगाना, महात्‍मा गांधी के जीवन एवं कार्यों के बारे में संवादात्‍मक अनुभव सुनिश्‍चित करने के लिए एक व्‍याख्‍या केंद्र स्‍थापित करना, मार्ग को चौड़ा करना, दिव्‍यांगजन की सहूलियत के लिए रैंप की सुविधा मुहैया कराना, ग्रेनाइट फर्श बनाना, राजघाट के चारों ओर स्‍थित 2 मीटर चौड़े एवं 1.10 किलोमीटर लंबे पेरिफेरल मार्गों को विकसित करना, आगंतुकों के लिए सीट/बेंच की व्‍यवस्‍था करना, सभी के लिए उपलब्‍ध शौचालय बनाना, बाड़ लगाना, लोटस पौंड के आर-पार फुट ओवर ब्रिज बनाना इत्‍यादि शामिल हैं।

शहरी विकास मंत्री श्री एम.वेंकैया नायडू की अध्यक्षता वाली राजघाट समाधि समिति ने आज इन कार्यों को मंजूरी दी। सांसद श्री उदित राज, पूर्व सांसद एवं महात्‍मा गांधी के पौत्र श्री राजमोहन गांधी, श्री दीपक नायर और समिति के अन्‍य सदस्‍यों ने भी बैठक में भाग लिया।

श्री दीपक नायर ने कहा, ‘मैं लंबे समय से इस समिति में हूं और गांधी समाधि तक की यात्रा को एक आनंद एवं ज्ञानदायक अनुभव में तब्‍दील करने के लिए किए जा रहे प्रयासों से मुझे अत्‍यंत खुशी हो रही है।’ गांधी समाधि के चारों ओर 46 इंच की तीन एलईडी स्‍क्रीन लगाई जाएंगी, जिन पर महात्‍मा गांधी के जीवन, राष्‍ट्रीय आंदोलन, अमृत वचन एवं महात्‍मा गांधी के आदर्श-वाक्‍यों को दर्शाया जाएगा। श्री नायडू ने सीपीडब्‍ल्‍यूडी से इन कार्यों को बेहतर ढंग से एवं जल्‍द से जल्‍द पूरा करने को कहा है।