राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई नेताओं ने की कड़ी निंदा 

इस ख़बर को शेयर करें:

गुरुवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 37 जवान शहीद हो गए. रिपोर्ट्स के मुताबिक जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी कार से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी. ये साल 2016 में हुए उरी हमले के बाद सबसे भीषण आतंकवादी हमला है.

पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए कायराना हमले की राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत कई नेताओं ने कड़ी निंदा की । राष्ट्रपति ने कहा, आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पूरा देश एकजुट है तो वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले की निंदा की है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले की मैं कडे़ शब्दों में निंदा करता हूँ। शहीदों के शोक में डूबे परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूँ। पूरा देश आतंक और क्रूर शक्तियों के खिलाफ एकजुट होकर खड़ा है।

सीआरपीएफ हमले की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कड़ी आलोचना करते हुए कहा- “पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमला एक निंदनीय घटना है। मैं इस कायरपूर्ण हमले की आलोचना करता हूं। हमारे वीर जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। शहीद जवानों के परिजानों के साथ पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। घायल जल्द स्वर्थ हो जाएं।”

राजनाथ शुक्रवार को जाएंगे जम्मू कश्मीर

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से बातचीत की और सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादियों के घातक हमले के बाद की राज्य की स्थिति का जायजा लिया । अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बिहार में शुक्रवार का अपना कार्यक्रम भी रद्द कर दिया । वह जम्मू कश्मीर जा सकते हैं।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृहमंत्री ने राज्यपाल से बाचतीत की जिन्होंने उन्हें राज्य की वर्तमान स्थिति के बारे में बताया। सिंह ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक आर आर भटनागर से भी बातचीत की और उन्हें जरूरी निर्देश दिये। गृह मंत्रालय स्थिति पर कड़ी नजर रख रहा है।

सिंह ने ट्वीट किया, ”(जम्मू कश्मीर के) पुलवामा में सीआरपीएफ पर आज का कायराना हमला बहुत ही पीड़ाजनक और विचलित कर देने वाला है। मैं सीआरपीएफ के हर उस जवान को नमन करता हूं जिसने देश की सेवा में अपनी जान कुर्बान की है।

पुलवामा आतंकी हमले की डोभाल कर रहे है निगरानी

पुलवामा में सीआरपीएफ हमले के बाद बनी स्थिति पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल निगरानी कर रहे हैं और सीनियर सीआरपीएफ अधिकारी उन्हें लगातार स्थिति से अवगत करा रहे है। उधर, गृहमंत्री राजनाथ सिंह की शुक्रवार को पटना में होनेवाली रैली रद्द कर दी गर्ई है। वे अब शुकआवार को श्रीनगर जाएंगे। इससे पहले, उन्होंने पुलवामा हमले को लेकर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से बात की।

ममता ने कहा- हमारी चिंता शहीद जवान के परिवार के साथ

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा- “पुलवामा में सीआरपीएफ पर हमले में शहीद जवानों की संख्या बढ़ने की खबर आ रही है। हम इस घटना की आलोचना करते हैं। इस दुख की घड़ी में हमारे वीर शहीद जवानों के परिजनों के साथ हमारी चिंता और प्रार्थना है।”

गडकरी बोले- पुलवामा हमले से हूं निराश

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा- “पुलवामा में जवानों की शहादत से निराश हूं। जवानों की शहादत को मातृभूमि कभी नहीं भुला पाएगी। मेरी संवेदना उन परिवारों के साथ है जिन्होंने अपने बेटे खो दिए।”