राष्ट्रपति ने बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए रेडक्रॉस की ओर से भेजी गई राहत सामग्री की खेप रवाना की

राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने रेडक्रॉस की ओर से बाढ़ प्रभावित राज्यों के लिए भेजी गई राहत आपूर्ति सामग्री से लदे नौ ट्रकों को शुक्रवार को राष्ट्रपति भवन से रवाना किया. इस अवसर पर केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी उपस्थित थे. राष्ट्रपति भारतीय रेडक्रॉस सोसाइटी के अध्यक्ष भी हैं. असम, बिहार और उत्तर प्रदेश के बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए ये राहत सामग्री दिल्ली से संबंधित राज्यों को रेलगाड़ियों के जरिए पहुंचाई जाएगी, जहां रेडक्रॉस की शाखाएं इन्हें आगे जरूरतमंद लोगों तक बांटेंगी.

इस राहत सामग्री में तिरपाल, टेंट, साड़ी, धोती, सूती कंबल, रसोई सेट, मच्छरदानी, चादरें, बाल्टियां और दो जलशोधन मशीनें शामिल हैं. इसके अलावा कोविड से बचाव के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सर्जिकल मास्क, पीपीई किट, दस्ताने और फेस शील्ड भी इस खेप का हिस्सा हैं. बाढ़ प्रभावित राज्यों में इनका इस्तेमाल मुख्य रूप से राहत और पुनर्वास कार्यों में अग्रिम पंक्ति में तैनात आईआरसीएस चिकित्सा सेवाओं के लोगों तथा आईआरसीएस के स्वयंसेवकों के लिए किया जाएगा.

उपरोक्त सामग्रियों की आपूर्ति बाढ़ प्रभावित लोगों को राज्यों की रेडक्रॉस शाखाओं द्वारा पहले से वितरित की जा चुकी राहत सामग्रियों के अतिरिक्त हैं. रेडक्रॉस सोसाइटी के महासचिव आरके जैन ने राहत सामग्री की खेप रवाना किए जाने के अवसर पर देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ और कोविड से प्रभावित लोगों की सेवा के लिए रेडक्रॉस की ओर से की गई विभिन्न पहलों और कार्यों की राष्ट्रपति को जानकारी दी. राष्ट्रपति सचिवालय और रेडक्रॉस सोसाइटी के कई अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे.