कारागार के प्रधान बंदी रक्षक की गोली मारकर हत्या

प्रयागराज :योगी सरकार एक तरफ बदमाशों पर लगाम लगाने पर जुटी हुई है वही है कि बदमाश लगाम लगाने वाले को ही निशाना बना रहे हैं प्रतापगढ़ शहर स्थित जेल रोड रेलवे क्रासिंग के पास गुरुवार को जिला कारागार के प्रधान बंदी रक्षक (हेड वार्डर) की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस सनसनीखेज वारदात ने जिले में कानून व्यवस्था को फिर सवालों में ला दिया। आइजी मोहित अग्र्रवाल समेत तमाम अफसरों ने पहुंचकर तथ्यों की जानकारी ली। रात आठ बजे तक हत्यारे गिरफ्त से बाहर थे। लखनऊ जिले के नगराम थाना अंतर्गत पुरहिया (निगोहा) गांव निवासी हरि नारायण त्रिवेदी (56) पुत्र स्वर्गीय उमाशंकर त्रिवेदी जिला कारागार में हेड वार्डर (प्रधान बंदी रक्षक) पद पर तैनात थे। वह ड्यूटी पूरी कर गुरुवार को दोपहर 2:25 बजे जेल से बाहर निकले और कमरे पर चले गए। कुछ देर बाद सब्जी खरीदने के लिए पैदल ही जेल रोड क्रॉसिंग की ओर निकले। करीब साढ़े तीन बजे वह क्रॉसिंग के पास ठेला दुकानदार से हरी मटर खरीद रहे थे। इसी बीच चौक घंटाघर की ओर से काली पल्सर सवार दो बदमाश पहुंचे और हरि नारायण को गोली मारकर हवाई फायरिंग करते हुए खीरीबीर घाट की ओर भाग निकले।इस बीच मौके पर पहुंचे जेल चौकी इंचार्ज एवं आस-पास के लोगों ने सामने से आ रहे कार चालक को रोका और हरि नारायण को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जिला अस्पताल में परीक्षण के बाद चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इतना होने तक जानकारी मिलने पर एएसपी पूर्वी अवनीश मिश्र व कोतवाल जिला अस्पताल पहुंचे। फिर घटनास्थल का स्थल निरीक्षण किया। पुलिस अधीक्षक एस आनंद फोर्स लेकर खीरीबीर घाट की ओर चले गए। एसपी का कहना है कि बदमाशों की धरपकड़ को टीमें गठित की गई हैं। हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। हेड वार्डर की हत्या की एक वजह उनकी सख्ती भी मानी जा रही है।[ब्यूरो रिपोर्ट प्रतापगढ़]