कोरोना मरीजों के उपचार के पैकेज का पुनर्निर्धारण करेंगे निजी अस्पताल

जबलपुर। कोरोना मरीजों पर ज्यादा आर्थिक बोझ न पड़े इसे देखते हुए निजी अस्पताल अपने पैकेज का पुन:निर्धारण करेंगे। यह सहमति कलेक्टर कर्मवीर शर्मा की अध्यक्षता में आज शाम आयोजित निजी अस्पताल संचालकों की बैठक में बनी। निजी अस्पताल संचालकों ने बैठक में कहा कि वे जल्दी ही आपस में चर्चा कर उपचार की दरों का पुनर्निर्धारण कर प्रशासन को सूचना देंगे। बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, निजी नर्सिंग होम एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. जीतेन्द्र जामदार, डॉ. राजेश धीरावाणी, सरबजीत सिंह मोखा, सौरभ बड़ेरिया एवं अन्य निजी अस्पतालों के संचालक मौजूद थे।

बैठक के प्रारंभ में कलेक्टर श्री शर्मा ने निजी अस्पताल संचालकों से सेवा की भावना को प्रमुखता देते हुए कोरोना मरीजों के उपचार की दरें पुन: निर्धारित करने की अपेक्षा व्यक्त की। बैठक में निजी अस्पताल संचालकों ने बताया कि वे खुद आपस में बैठकर कोरोना मरीजों के उपचार के पैकेज इस तरह तय कर रहे हैं जिससे कि लोगों पर विशेषकर कमजोर आर्थिक स्थिति वाले कोरोना मरीजों पर इसका ज्यादा बोझ न पड़े और उन्हें भी नुकसान न हो। अस्पताल संचालकों ने कहा कि शहर एवं जनता का हित उनके लिए सर्वोपरि है और इसे देखते हुए वे पैकेज का पुनर्निर्धारण कर रहे हैं। अस्पताल संचालकों ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के प्रशासन के प्रयासों की हर स्तर पर सहयगो का आश्वासन भी बैठक में दिया।

बैठक में अस्पताल संचालकों ने भविष्य की जरूरतों को देखते हुए आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों को और बेहतर उपचार मिले इसके लिे जरूरी संसाधन जुटाने की ओर भी कदम बढ़ा रहे हैं। अस्पताल संचालकों ने बैठक में कहा कि प्रशासन द्वारा जिन 11 अस्पतालों को कोरोना मरीजों के उपचार की अनुमति प्रदान की गई है उनमें से ऐसे अस्पतालों को भी कोरोना मरीजों को उपचार के लिए भर्ती करने कहा जाये जहां अभी तक इसे शुरू नहीं किया गया है।